MP: नवरात्र महोत्सव में मचेगी गरबों की धूम लेकिन ये है शर्त!

ग्वालियर: नवरात्र आने में कुछ ही समय बचा है। ऐसे में कई लोगों ने अपने-अपने घरों में इस पर्व को मनाने की तैयारियां शुरू कर दी है। कई लोगों का कहना है 'कोरोना के कारण हम बीते साल धमाल नहीं कर पाए थे, इस वजह से हम पूरी तैयारी के साथ इस बार मैदान में उतरना चाहते हैं और पूरे दिल से गरबा करते हुए माता रानी की आराधना करना चाहते हैं।'

वहीं दूसरी तरफ गरबा ट्रेनर गिरीश शर्मा का कहना है कि 'गरबा की प्रैक्टिस प्रतिभागियों को शारीरिक दूरी के साथ कराई जा रही है। मुख्य समारोह में भी ये दूरियां रहेंगी। दर्शकों की क्षमता हर दिन 70 से 80 ही रखी जाएगी।' आप सभी को बता दें कि इस बार महोत्सव के दिन भी लगभग आयोजकों ने घटा दिए हैं। जी दरअसल पहले तीन से पांच दिन के गरबा महोत्सव होते थे, जबकि इस साल दो से तीन का शेड्यूल बनाया गया है। मिली जानकारी के तहत इस बार गरबों की खनक सुनने को मिलने वाली है। सब जगह गरबे थीम बेस्ड होंगे, जो भारत के किसी न किसी राज्य की परंपरा से जुड़े होंगे। केवल यही नहीं बल्कि सभी का फोकस गुजराती के साथ राजस्थानी परंपरा पर टिका हुआ है।

वहीं इसके अंतर्गत प्रतिभागी इन दोनों राज्यों के परिधान पहनकर गरबा खेलेंगे। केवल यही नहीं बल्कि यह भी कहा जा रहा है कि प्रस्तुति देने से पहले सभी के लिए कोविड का प्रमाणपत्र लाना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में यह देखा जाएगा कि प्रतिभागी ने वैक्सीन लगवाया है या नहीं। वहीं अगर नहीं लगवाया है तो उसे महोत्सव का हिस्सा नहीं बनाया जाएगा।

गांधी जयंती पर अहमदाबाद के साबरमती आश्रम में होगी विशेष प्रार्थना सभा

प्लास्टिक की बोतल में फंस गया युवक का प्राइवेट पार्ट, 2 माह तक ऐसे ही घुमा, जब सड़न शुरू हुई तो...

आपसी लड़ाई में गई छात्र की जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -