आज से शुरू होकर कल इतने समय तक रहेगा गुरु पुष्य नक्षत्र

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक शुभ-मुहूर्त में पूजा-पाठ की जाए तो बहुत शुभ फल मिलते है. ठीक ऐसे ही शुभ मुहूर्त में खरीदारी से सुख-समृद्धि घर आती है। आप सभी को बता दें कि शास्त्रों में खरीदारी के लिए गुरु पुष्य नक्षत्र को सबसे शुभ और मंगलकारी माना गया है। ऐसे में इस बार धनतेरस और दिवाली से पहले ही खरीदारी का बेहद शुभ संयोग बन रहा है। जी दरअसल यह वही दिन है जब खरीदारी और निवेश के लिए समय बहुत लाभकारी है। इस बार गुरु पुष्य नक्षत्र आज, 28 अक्टूबर 2021, दिन गुरुवार पूरे दिन और रात तक रहने वाला है.

आपको बता दें कि गुरु और शनि ग्रह एक ही मकर राशि में रहेंगे। जी हाँ और गुरु पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग 677 साल बाद बन रहा है। इसी के साथ आज ही गुरुवार भी है। आपको बता दें कि गुरु पुष्य नक्षत्र का गुरवार के दिन होना सबसे उत्तम माना जाता है। आने वाले 2 नवंबर को धनतेरस और 4 नवंबर को दिवाली है लेकिन इस साल धनतेरस और दिवाली से पहले ही खरीदारी का शुभ संयोग बन रहा है। अब अगर आज आप खरीददारी करते हैं तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस नक्षत्र में खरीदारी करने से घर सुख-समृद्धि आती है। हालाँकि इस मुहूर्त में विवाह की मनाही होती है।  जी दरअसल पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि भगवान राम और देवगुरु बृहस्पति का जन्म भी इसी नक्षत्र में हुआ था।

गुरु पुष्य नक्षत्र समय : 28 अक्टूबर 2021 गुरुवार को गुरु पुष्य नक्षत्र का योग सुबह 09:41 से प्रारंभ होकर दूसरे दिन 29 अक्टूबर, शुक्रवार की सुबह 11:38 तक रहेगा।

अक्टूबर को 'हिन्दू विरासत माह' के रूप में मना रहा अमेरिका, जानिए क्या है वजह

सीएम भूपेश बघेल भी हुए Vocal For Local के मुरीद, इस दिवाली पर दिया बड़ा आदेश

क्या असम में भी बिना पटाखों के मनेगी दिवाली ? सीएम सरमा बोले- जनभावना के हिसाब से होगा फैसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -