'भारत में होती गुरुनानक की तपोभूमि, लेकिन कांग्रेस ने छोड़े तीन-तीन मौके..', पंजाब में गरजे पीएम मोदी

अमृतसर: 20 फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार (16 फरवरी) को पठानकोट में एक रैली को संबोधित किया। यहाँ पीएम मोदी ने जय श्रीराम, जो बोले सो निहाल और वाहे गुरु जी का खालसा… के नारे देकर नवा पंजाब (नया पंजाब) बनाने का वादा किया। पीएम मोदी ने कहा कि इस सीमावर्ती राज्य के विकास और नशामुक्ति के लिए भाजपा को सत्ता में लाना जरूरी है।

वहीं, कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, 'भारत का बंटवारा हुआ तो नेता कांग्रेस के थे, मगर उन्हें इतनी समझ नहीं आई कि बॉर्डर से 6 किमी दूर हमारे गुरु नानक देव जी की तपोभूमि है और उसे अपने पास नहीं रख पाए। इसे पाकिस्तान को देकर कांग्रेस ने भारतीयों की भावनाओं को कुचला और जघन्य पाप किया है। उन्होंने आगे कहा कि 1965 की जंग में भारतीय सेना लाहौर में झंडा फहराने की तरफ बढ़ रही थी। उस समय गुरु नानक देव जी भूमि भारत के पास होती। कांग्रेस ने पहला मौका विभाजन के वक़्त चूका, फिर 1965 की जंग में भी चूक गए। उसके बाद 1971 के युद्ध में 90,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने समर्पण कर दिया। यदि दिल्ली में बैठी सरकार में ताकत होती, तो कह देते कि इन सैनिकों के बदले गुरु नानक देव जी की तपोभूमि को वापस लेंगे। 

पीएम मोदी ने कहा कि जिस करतारपुर कॉरिडोर को कल तक दूरबीन से देखते थे, आज भारत के लोग वहाँ जाकर दर्शन करके आते हैं। उन्होंने कहा कि श्री दरबार साहिब में खून-खराबे का कलंक कांग्रेस के नाम पर दर्ज है। ये वही कांग्रेस के लोग हैं, जिन्होंने राम मंदिर के निर्माण को रोकने के लिए पूरी जान लगा दी थी।

तेलंगाना सीएम KCR के खिलाफ असम में मामला दर्ज, भारतीय सेना का अपमान करने का आरोप

46 साल कांग्रेस में रहने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार ने छोड़ी पार्टी, बताया ये बड़ा कारण

सरकारी नौकरी के नाम पर भाजपा नेता ने लिए पैसे, पार्टी ने 6 साल के लिए किया निलंबित

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -