पत्नी रोज सिर पर ढोकर लाती थी पानी, पति ने 15 दिन में खोद दिया कुआं

By iti mishra
Jan 14 2021 10:14 AM
पत्नी रोज सिर पर ढोकर लाती थी पानी, पति ने 15 दिन में खोद दिया कुआं

गुना: कभी कभी कुछ ऐसी कहानियां सामने आ जाती हैं जो दिल को छू जाती हैं। अब ऐसी ही एक कहानी सामने आई है जो सभी के दिलों को छू गई है। यह कहानी है एक पति-पत्नी की। जी दरअसल इस मामले में पत्नी को रोजाना आधा किलोमीटर दूर से पीने का पानी सिर पर ढोकर लाना पड़ता है। इस बात से उसका पति बहुत दुखी थी। पति की उम्र 46 साल है और वह एक गरीब मजदूर है। अपनी पत्नी के रोज-रोज के काम से दुखी पति ने उसे तोहफा देने के लिए 15 दिन में अपनी झोपड़ी के पास खुद का कुआं खोद दिया और उसे पानी ढोने की समस्या से पत्नी को निजात दिला दी।

वैसे यह मामला मध्यप्रदेश के गुना जिले के चाचौड़ा तहसील के भानपुर बावा गांव का है। यहाँ रहने वाले भरत सिंह ने अपनी पत्नी सुशीला को ऐसा तोहफा दिया जिसे वह कभी नहीं भूल पाएगी। भरत ने केवल अपनी पत्नी को तोहफा ही नहीं दिया बल्कि अपनी आधा बीघा जमीन की सिंचाई करने की व्यवस्था भी की। इस बारे में बात करते हुए एक वेबसाइट से भरत सिंह ने बीते बुधवार को बताया, 'हमारे घर में पीने के पानी की व्यवस्था नहीं थी। मेरी पत्नी को आधा किलोमीटर दूर हैंडपंप पर पानी लेने जाना पड़ता था। इसमें उसे कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता था। कई बार हैंडपंप खराब हो जाने के कारण बिना पानी के ही रहना पड़ता था।'

इसके अलावा उन्होंने आगे कहा, 'एक दिन जब हैंडपंप खराब होने के चलते पत्नी सुशीला बिना पानी के लौटी और उसने मुझे बताया, तो पत्नी की इसी परेशानी को देखते हुए मैंने अपने घर पर ही कुआं खोदने की ठान ली।' जी दरअसल भरत ने 15 दिन की लगातार कड़ी मेहनत के बाद छह फीट व्यास वाला गोल 31 फीट गहरा कुआं खोद दिया है। अब भरत ने कुएं को ईंट, सीमेंट एवं रेत से पक्का भी कर दिया और उनके इस काम को कई लोग सराहना दे रहे हैं।

MP: सब इंस्पेक्टर के घर हुई छापेमारी, मिले करोड़ों रुपए

विजय की मास्टर फिल्म के साथ केरल में फिर से खुले सिनेमाघर

मकर संक्रांति: इस नवग्रह मंदिर में सबसे पहले जाती है सूर्य की किरण