RSS ने ही की स्वयं के संविधान की उपेक्षा

Feb 27 2016 11:36 AM
RSS ने ही की स्वयं के संविधान की उपेक्षा

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर कांग्रेस ने गंभीर आरोप लगाया है। दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद गुलाम नबी आज़ाद ने आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा उस संविधान की ही उपेक्षा की गई है जिसे स्वयं आरएसएस के लोगों ने ही तैयार किया था। अर्थात् संघ ने संघ का ही संविधान ताक पर रख दिया।

दरअसल पहले जब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने स्वयं को सांस्कृतिक, सामाजिक और शैक्षणिक गतिविधियों में शामिल संगठन बताया मगर बाद में वे पूर्णतः राजनीतिक संगठन हो गए। उन्होंने सांस्कृतिक, सामाजिक और शैक्षणिक गतिविधयों को कम कर दिया और अब तो आरएसएस पूरी तरह से राजनीतिक संगठन हो गया है।

आज़ाद ने यह भी कहा कि इसके लिए वे स्वयं राजी हो गए थे। मगर बाद में उन्होंने संगठन को राजनीतिक रंग ही दे दिया। पूर्वकेंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि उसने स्वयं के संविधान को एक ओर रख दिया। आज़ाद ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी केवल एक मुखैटा है। सरकार को चलाने वाला संगठन तो आरएसएस ही है।