अमिताभ बच्चन की ऑन-स्क्रीन पत्नी का निधन, रेखा से है खास कनेक्शन

दिग्गज अदाकारा फारुख जफर अब इस दुनिया में नहीं रहीं। उनका निधन 89 साल की उम्र में हो गया है। आप सभी ने फारुख जफर को फिल्म ‘गुलाबो सिताबो’ में देखा होगा। इसी फिल्म के लिए अदाकारा को जाना जाता है। उनके निधन के खबर की पुष्टि उनकी बड़ी बेटी मेहरू जफर ने की है। हाल ही में उन्होंने बताया कि ''माँ की तबीयत ठीक नहीं थी। उन्हें इस महीने की शुरुआत में लखनऊ के सहारा अस्पताल में भर्ती कराया गया था।'' बीते शुक्रवार की शाम को अस्पताल में फारुख जफर ने अंतिम सांस ली।

अपनी माँ के बारे में बात करते हुए मेहरू ने कहा कि 'सांस लेने में दिक्कत के चलते उन्हें 4 अक्टूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह ठीक नहीं थीं। उनके फेफड़े उस वक्त ऑक्सीजन लेने में असमर्थ थे जो उन्हें दी गई थी। शाम को करीब 6 बजे उनका निधन हो गया।' वहीं दूसरी तरफ फारुख जफर के नाती शाज अहमद ने ट्विटर पर लिखा कि ''मेरी नानी और स्वतंत्रता सेनानी, पूर्व एमएलसी एसएम जफर की पत्नी और दिग्गज अभिनेत्री फारुख जफर का आज शाम लखनऊ में निधन हो गया।'' आप सभी को बता दें कि फारुख जफर साल 1963 में लखनऊ विविध भारती में रेडियो एनाउंसर्स के तौर थीं। वहीं साल 1981 में फिल्म ‘उमराव जान’ के साथ उन्होंने पर्दे पर कदम रखा और अपने करियर की शुरुआत की। उस फिल्म में उन्होंने रेखा की मां की भूमिका निभाई थी। उस फिल्म के बाद उन्होंने आमिर खान की फिल्म ‘पीपली लाइव’ और शाहरुख खान के साथ ‘स्वदेस’ में भी काम किया था। इन फिल्मों के अलावा वह ‘सुल्तान’ में भी नजर आई थीं।

इसी के साथ ‘गुलाबो सिताबो’ में फातिमा बेगम उनके यादगार किरदार में से था, इस फिल्म में वह अमिताभ बच्चन की पत्नी के रोल में थीं। उनके निधन पर ‘गुलाबो सिताबो’ की राइटर जूही चतुर्वेदी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया और लिखा, ‘बेगम चली गईं फारुख जी, न आप जैसा कोई था, न कोई होगा। हमें आपके साथ जुड़ने की अनुमति देने के लिए दिल से धन्यवाद। अल्लाह की दूसरी दुनिया में सुरक्षित रहें।‘

ED की पूछताछ के बाद नोरा फतेही के प्रवक्ता ने दिया ये बड़ा बयान

आर्यन खान का सपोर्ट करते हुए बोले हंसल मेहता- विदेशों में लीगल है ‘मारिजुआना'

जब मंडप में जीतेन्द्र का हाथ छोड़कर हेमा मालिनी ने थाम लिया था धर्मेंद्र का हाथ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -