भावनगर के जनरेशन हॉस्पिटल में अचानक भड़की आग, ICU में भर्ती थे 70 मरीज

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के संकटकाल के बीच देश के अस्पतालों में आग लगने का सिलसिला जारी है. अब गुजरात के भावनगर स्थित जनरेशन अस्पताल में आग भड़क उठी है. बताया जा रहा है कि आग तीसरी मंजिल पर लगी, जहां ICU बेड थे. जब आग लगी, उस समय  ICU में 70 से ज्यादा मरीज एडमिट थे. सभी को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया है.

अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि आग शार्ट सर्किट के कारण लगी. आग लगते ही सभी मरीजों को बाहर निकाल लिया गया है. इस कारण किसी मरीज की जान नहीं गई है. फिलहाल, घटनास्थल पर दमकल विभाग की टीम पहुंच गई और आग पर नियंत्रण पाने की कोशिश में जुट गई. कई घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया. 

जब अस्पताल में आग लगी तो भगदड़ मच गई थी. आनन-फानन में मरीजों को बाहर लाया गया. कई मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे. उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ बाहर लाया गया और फ़ौरन दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया. जनरेशन अस्पताल की तत्परता से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई. इससे पहले गुजरात के भरूच शहर के पटेल वेलफेयर हॉस्पिटल में बने कोरोना केयर वार्ड में 30 अप्रैल की रात अचानक आग भड़क उठी थी. देखते ही देखते आग की लपटें ICU वार्ड तक पहुंच गई थी. इस गंभीर हादसे में 14 मरीज और 2 स्टाफ नर्स की जान चली गई थी. कोरोना वार्ड में करीब 49 मरीज भर्ती थे, जिसमें से 24 मरीज आईसीयू में थे.

भरूच के पटेल वेलफेयर हॉस्पिटल से दो दिन पहले महाराष्ट्र के ठाणे के प्राइम क्रिटिकेअर हॉस्पिटल में भी आग लगने का मामला सामने आया था. आग लगने के बाद फ़ौरन में मरीजों को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट करने का काम शुरू किया गया, लेकिन इस दौरान चार मरीजों की मौत हो गई थी. इस घटना से कुछ दिन पहले मुंबई से सटे विरार इलाके में विजय वल्लभ कोविड अस्पताल में आग लगने से 14 लोगों की जान चली गई थी. 

बहरीन राजकुमार के नेतृत्व वाली टीम ने माउंट एवरेस्ट पर की चढ़ाई की, बनी पहली अंतर्राष्ट्रीय टीम

टाटा मोटर्स ने भारत में 30 जून तक बढ़ाई मुफ्त कार सेवा और वारंटी अवधि

चार दिनों की तेजी के बाद नीचे लुढ़का शेयर बाजार, 14,900 के नीचे पहुंची निफ्टी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -