रीति-रिवाजों को छोड़ सबसे पहले दुल्हे ने दुल्हन को दिखाया टॉयलेट

बुरहानपुर : कई जगहों से ऐसी खबरें आ रही है कि ससुराल में शौचालय न होने के कारण कई दुल्हनें अपने पति का घर छोड़कर चली गई, ऐसे में अब नए दुल्हों को इस बात की चिंता सता रही है। इसी कारण बुरहानपुर में जब एक दुल्हन शादी के बाद अपने ससुराल पहुंची, तो रीति-रिवाज की बजाए दुल्हे ने दुल्हन का हाथ पकड़ कर पहले उसे टॉयलेट दिखाने ले गया।

दरअसल ये शर्त बुरहानपुर में हुए सामूहिक विवाह में रखी गई थी। टॉयलेट नहीं तो शादी नहीं। बुरहानपुर में रविवार को शगीरा बानो मेमोरियल सोशल वेलफेयर सोसायटी ने सामूहिक विवाह सम्मेलन कराया था। इसमें हिंदू और मुस्लिम समाज के 11 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। पांच जोड़ों ने सात फेरे लिए।

6 जोड़ों ने निकाह कबूल किया। सभी दूल्हा-दुल्हन ने नलों पर टोटी लगाकर पानी बचाने और स्वच्छता का संकल्प लिया, इसके बाद इन्हें विदा किया गया। शिकारपुरा निवासी शेख एजाज शेख अनवर ने आजाद नगर निवासी परवीन बानो पिता शेख शकील से निकाह किया।

एजाज के घर में शौचालय नहीं था, ऐसे में उन्हें नई बहू के लिए चिंता होने लगी। 6 माह पहले ही एजाज के घर पर टॉयलेट बना। एजाज के पिता ने भी कहा कि बहू की इज्जत सबकी इज्जत है। मुख्यमंत्री विवाह और निकाह योजना के तहत हुए इस विवाह में जनपद पंचायत सीईओ राकेश शर्मा ने कन्यादान किया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -