बाढ़ जैसी स्थितियों से बचने के लिए ग्रेटर वारंगल नगर निगम ने की प्री मानसून प्लानिंग

ग्रेटर वारंगल नगर निगम (जीडब्ल्यूएमसी) ने बारिश को लेकर भारतीय मेट्रोलॉजिकल विभाग अलर्ट मोड पर है। बता दें कि पिछले साल बारिश में वारंगल की सड़कों को काफी नुकसान हुआ था और इन समस्याओं से बचने के लिए जीडब्ल्यूएमसी पहले से तैयारी कर रही है. उल्लेखनीय है कि वारंगल पश्चिम के विधायक डी विनय भास्कर और मेयर गुंडू सुधारानी ने गुरुवार को हनमकोंडा में कुछ संवेदनशील क्षेत्रों- अशोक कॉलोनी, तिरुमाला बार और अंबेडकर रोड का निरीक्षण किया, जहां पिछले साल अगस्त के मध्य में बाढ़ आई थी। 

पिछले साल शहर में लगातार बारिश ने कई निचले इलाकों में पानी भर दिया था। गौरतलब है कि विनय भास्कर ने अधिकारियों से नालों में बरसाती पानी का मुक्त प्रवाह सुनिश्चित करने को कहा था। विनय भास्कर ने कहा, "सभी संभव उपाय किए जाने की जरूरत है क्योंकि बारिश का मौसम दूर नहीं है।" महापौर गुंडू सुधारानी ने अधिकारियों को सभी प्रमुख नालों में खुदाई करने के अलावा आंतरिक नालों में रुकावटों को साफ करने के निर्देश दिए। 

सुधारानी ने कहा, "यह अधिकारियों के लिए एक योजना तैयार करने और बारिश के मौसम में किसी भी तरह की असुविधा से बचने के लिए उस पर अमल करने का समय है।" हालांकि, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि मेयर ने संतोषी माता कॉलोनी का निरीक्षण किया और कर्मचारियों को स्वच्छता की स्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। पार्षद नल्ला स्वरूप रानी, डीई संतोष बाबू और एई अजमीरा श्रीकांत अन्य उपस्थित थे।

श्मशान घाट में अचानक चिता पर से उठ खड़ी हुई लाश, मुर्दे से आने लगी ओम-ओम की आवाज

क्या कोविशील्ड खुराक के बीच का अंतर कर सकता है लोगों को प्रभावित

कोरोना पीड़ितों की मदद को आगे आया ‘द आर्ट ऑफ लिविंग’ संगठन, श्री श्री रविशंकर ने शुरू किया ‘मिशन जिंदगी’

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -