इंदौर आईफा अवॉर्ड की शानदार तैयारी शुरू, जानिए कितने में मिलेग़ा टिकट

Feb 21 2020 04:27 PM
इंदौर आईफा अवॉर्ड की शानदार तैयारी शुरू, जानिए कितने में मिलेग़ा टिकट

इंदौर: इंदौर के डेली कॉलेज में होने जा रहे  28-29 मार्च को आईफा अवॉर्ड के लिए आयोजक कंपनी विजक्राफ्ट ने टिकट दरें लगभग तय कर दी हैं. वहीं इस टिकट की तीन कैटेगरी होंगी. जिसमें सबसे महंगा टिकट वीआईपी क्लास का दो लाख रु. का होगा. एवं गोल्ड क्लास 40 हजार रु. जबकि सिल्वर क्लास का टिकट 7500 रु. में मिल सकता हैं. चूकि आईफा या विजक्राफ्ट ने इसका आधिकारिक ऐलान नहीं किया है, परन्तु सूत्र बताते हैं कि दरों पर सहमति बन चुकी है.

बीते साल मुंबई आयोजन में सबसे महंगा टिकट 2.15 लाख रु. का था, इसी के साथ सबसे सस्ता टिकट 10 हजार रुपए में बिका था. इसके आधार पर ही यहां के रेट तय हुए हैं. दर्शकों को इसमें ये राहत रहेगी कि एक ही टिकट से दोनों दिन इंट्री हो सकेगी, पर एक टिकट पर एक ही सिर्फ व्यक्ति का प्रवेश होगा. यह अवॉर्ड शो मुख्य आयोजन डेली कॉलेज के हनुमंत ओवल क्रिकेट ग्राउंड पर होगा. यहां स्टेज बनेगा, जिस पर अवॉर्ड नाइट की प्रस्तुतियां दी जाएगी. आयोजक डेली कॉलेज की खूबसूरत बिल्डिंग का उपयोग कार्यक्रम को भव्यता देने के लिए करना चाहते हैं, इसे खूबसूरत बनाने के लिए लेजर लाइटों से सजाया जाएगा. हनुमंत ओवल क्रिकेट ग्राउंड के पास वाले फुटबॉल ग्राउंड में ग्रीन रूम, प्रॉप रूम समेत दूसरे अस्थायी निर्माण किए जाएंगे. 

वीआईपी बैठक चूंकि स्टेज के नज़दीक होगी, इनका प्रवेश पुलिस ट्रेनिंग स्कूल वाली सड़क पर बने डेली कॉलेज बिजनेस स्कूल के मुख्य द्वार और सात बंगले वाले हिस्से में रखा हैं. वहीं बाकी दर्शक सेंट्रल जेल की ओर बने डेली कॉलेज के ज्ञान द्वार से आएंगे. वहीं वीआईपी पार्किंग के लिए पुलिस प्रशिक्षण केंद्र के मैदान का उपयोग किया जा सकता है. बाकी दर्शकों के वाहन नेहरू स्टेडियम, उसके आसपास के खाली मैदान, जमीनों पर पार्क होंगे. इन सभी तैयारियों में जरूरत के हिसाब से बदलाव भी होंगे. इस आयोजन की सारी चमक-धमक आयोजन स्थल के अंतर तक सीमित रहेगी. ऐसे में आईफा अवॉर्ड को शहर की जनता से जोड़ने के लिए आयोजकों ने एक रोड शो या रैली निकालने की योजना भी बनाई है. सूत्रों के अनुसार अवॉर्ड फंक्शन में आने वाले नामी सितारे ओपन लग्जरी बस में सवार होकर शहर का भ्रमण करते नजर आएंगे. ये भ्रमण डेली कॉलेज से राजबाड़ा के बीच हो सकता हैं. 

सरकार ने दी हिमाचल प्रारंभिक शिक्षा विभाग को 1807 पद पर भर्ती की मंजूरी

26 सालों से इस जनजातीय जिले में मात्र आठ रुपये छात्रवृत्ति दे रही है सरकार

तीन राज्यों की सरकारों द्वारा हो रही है दवा सैंपल की जांच