मुझे क्यों मारा दादी ?

मुंबई : उसे इस दुनिया में आए महज तीन महीने ही हुए थे. ठीक से दुनिया भी नही देखी थी और रिश्तों को समझना भी शुरू नहीं किया था. लेकिन उसके साथ जो हुआ उसे सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो जायेंगे. कलेजे को छलनी करने वाली यह घटना महाराष्ट्र के पुणे शहर की है और नन्ही मासूम को सजा देने वाला कोई और नहीं बल्कि उसी की दादी है.

कहा जाता है की हर बच्चे के लिए उसके दादा- दादी ढाल होते है लेकिन यहाँ तो एक कलियुगी दादी ने मासूम को इसलिए मौत के घाट उतार दिया क्योंकि वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी. 50 वर्षीय दादी ने अपने हाथों से ही उसे पानी के बैरल में डाल मौत की नींद सुला दिया. यही नहीं, पकड़े जाने के डर से बूढ़ी औरत ने दो महिलाओं के घर में घुसने की मनगढ़ंत कहानी भी बनाई . यहां तक की अपने बेटे और बहू को भी बरगलाने की कोशिश की. लेकिन, जब पानी के बैरल में तीन माह के मासूम की लाश मिली तो पुलिस को सूचना दी गई.

अंग्रेजी अखबार के मुताबिक आरोपी महिला का नाम सुशीला है. पुलिस का कहना है कि परिस्थितियों से मिले सबूतों के आधार पर जब पूछताछ की गई तो आरोपी महिला ने कथित तौर पर अपना जुर्म कबूल लिया. पुलिस ने अनुसार सुशीला ने बताया कि तीन माह की बच्ची बीमार रहती थी.

उसके इलाज में काफी पैसा खर्च हो रहा था. उनके परिवार पर काफी कर्ज था. ऐसे में उन्होंने इसे खत्म करने का फैसला किया था. जब उसके मां-बाप नहीं थे, तभी मासूम को पानी में डाल दिया. यही नहीं पुलिस को यह भी मालूम चला है कि इससे पहले आरोपी महिला अपनी एक अन्य बहू का जबरन गर्भपात भी करा चुकी है. बताया जा रहा है कि उसे मालूम हुआ था कि गर्भ में पलने वाला बच्चा लड़की है. पुलिस मामले की जांच में लगी है.

Most Popular

- Sponsored Advert -