मानसून सत्र: श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कितने लोगों की मौत हुईं ? आज सरकार ने दिया जवाब

Sep 19 2020 05:18 PM
मानसून सत्र: श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कितने लोगों की मौत हुईं ? आज सरकार ने दिया जवाब

नई दिल्ली: लॉकडाउन के दौरान कितने प्रवासी श्रमिकों की मौत हुई ? सोमवार से आरंभ हुए संसद के मॉनसून सत्र में विपक्ष ने इस सवाल को लेकर सरकार को जमकर निशाने पर लिया था. हंगामा तब और ज्यादा बढ़ गया जब केंद्र सरकार की ओर से जवाब आया कि इस बारे में उनके पास कोई डेटा मौजूद नहीं है.

इसके बाद शुक्रवार को एक बार फिर से सरकार से सवाल पुछा गया कि लॉकडाउन के दौरान श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कितने लोगों की मौत हुई. सरकार ने राज्यसभा में इस प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि 9 सितंबर तक कुल 97 लोगों की मौत हुई है. तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद डेरेक ओ'ब्रायन की तरफ से राज्यसभा में किए गए सवाल के जवाब में केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि, ''9 सितंबर तक कुल 97 लोगों की मौत हुई है.''

उन्होंने आगे कहा कि इन 97 मौतों में से 87 शव को राज्य पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. संबंधित राज्यों पुलिसों से अब तक 51 पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट प्राप्त हुईं हैं. इनमें मौतों के कारण कार्डिएक अरेस्ट, दिल की बीमारी, ब्रेन हेमरेज, लंग और लीवर डिजीज बताया गया है.' इससे पहले मई महीने में 80 प्रवासी मजदूरों के मौत की रिपोर्ट सामने आई थी. रेलवे प्रोटेक्शन पुलिस के हवाले से बताया गया था कि 9 मई से 27 मई के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 80 लोगों की मौत हुई थी. 

कंगाल हुई एयर इंडिया, महीनों से नहीं किया TDS और PF का भुगतान

सरकार ने दी बांग्लादेश को प्याज़ निर्यात करने की अनुमति, भेजा जाएगा 25000 टन प्याज़

बंगाल से अरेस्ट हुए अलकायदा के आतंकी, अधीर रंजन बोले- विस्तार से जांच करे NIA