'लिव इन' आवेदनो को लेकर असमंजस में सरकार

Feb 27 2016 10:12 AM
'लिव इन' आवेदनो को लेकर असमंजस में सरकार

नई दिल्ली : सरकार को इन दिनों प्रवासी भारतीय कार्ड के चलते दुविधा में देखा जा रहा है. बता दे कि अभी कुछ समय से भारतीय मूल के "लिव इन" पार्टनरों के आवेदनों को लेकर सरकार चिंतित नजर आ रही है. इस चिंता की वजह यह है कि लिव इन की सुविधा यहाँ केवल पति-पत्नी को ही प्रदान की दी जाती है. अब इस मामले को लेकर गृह मंत्रालय के द्वारा इससे जुड़े हुए नियमों पर भी विचार किया जा रहा है.

इसके साथ ही यह भी विचार किया जा रहा है कि लिव इन पार्टनर्स के द्वारा दिए जा रहे आवेदनों को लेकर आगे क्या कदम उठाए जाने चाहिए. इस मामले में जानकारी देते हुए गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी से यह बात सामने आई है कि उन्हें कई भारतीय मूल के लिव इन पार्टनरों के आवेदन प्राप्त हुए है.

जबकि इस मामले में अभी किसी तरह की जानकारी नहीं है कि उन्हें इसको लेकर आगे क्या करना चाहिए. क्योकि अभी तक यह नियम है कि ओसीआई कार्ड केवल पति-पत्नी को ही दिया जाता है. जानकारी मे ही उन्होंने यह भी बताया है कि कुछ आवेदनों को जब वापस किया गया तो वे इसके खिलाफ अदालत तक पहुँच गए. अब देखना होगा कि मामले में आगे क्या होता है.