किसान आंदोलन में जान गंवाने वालों के परिजनों को 25-25 लाख दे सरकार, कांग्रेस नेता की मांग

बैंगलोर: तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की पीएम नरेंद्र मोदी के ऐलान के बाद, कांग्रेस नेता और कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने शुक्रवार को केंद्र से उन किसानों के परिवार वालों को 25 लाख रुपये देने की मांग की है, जो कानूनों के खिलाफ आंदोलन करते हुए मारे गए थे. कांग्रेस नेता ने कहा कि, यह लोकतंत्र का परिणाम है. तानाशाह कितना भी मजबूत क्यों न हो, उसे आखिरकार लोकतंत्र में जनता के सामने झुकना ही पड़ेगा. 

सिद्धारमैया ने किसानों को इंसाफ देने की बात पर जोर देते हुए कहा कि, ‘अब जब भाजपा को अपनी गलती का एहसास हो गया है और मोदी सरकार ने किसान विरोधी कानूनों को वापस ले लिया है. यह संघर्ष के दौरान शहीद हुए किसानों को इंसाफ देने का वक़्त आ गया है. मैं पीएम मोदी से मृतक किसानों के परिजनों को 25 लाख रुपये देने का ऐलान करने का आग्रह करता हूं. किसानों को आखिरकार आजादी मिली है.’ सिद्धारमैया ने ट्वीट के जरिए ये बात कही.

बता दें कि पीएम मोदी ने आज राष्ट्र के नाम संबोधन में तीनों कृषि कानूनों (Three Farm Laws) को वापस लेने की घोषणा कर दी. कृषि कानूनों के खिलाफ किसान गत वर्ष नवंबर से ही आंदोलन कर रहे थे. पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा के बाद किसानों ने शुक्रवार को गाजीपुर सीमा पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’ के नारों के साथ जश्न मनाया.

कृषि कानूनों की वापसी के बाद लालू ने अनोखे अंदाज में दी किसानों को बधाई, कहा- बहुमत में अहंकार...

सदन में रो पड़े चंद्रबाबू नायडू, बोले- जब तक सत्ता में नहीं आता, तब तक विधानसभा में कदम नहीं रखूँगा

'370 पुनः लागू करे मोदी सरकार...', कृषि कानूनों की वापसी होते ही बोली कांग्रेस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -