बंदूक की नोक पर 15 वर्षीय नाबालिग को बनाया हवस का शिकार

Aug 24 2018 08:43 AM
बंदूक की नोक पर 15 वर्षीय नाबालिग को बनाया हवस का शिकार

उत्तरप्रदेश:  बीते सोमवार यानी 20 अगस्त को बरेली में 15 वर्षीय नाबालिग से तीन लोगों ने बंदूक दिखाकर अगवा किया और उसके बाद लड़की का गैंगरेप किया. गैंगरेप के बाद पीड़िता ने बीते कल यानी गुरूवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने इस बात की पुष्टि भी की. लड़की के आत्महत्या करने के एक दिन पहले ही गैंगरेप के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था, वहीं बाकी के दो आरोपियों का अब तक कोई पता नहीं है. दोनों अब तक फरार है. मंगलवार को पुलिस ने लड़की के साथ हुए यौन दुराचार का मेडिकल टेस्ट करवाया, जिसकी रिपोर्ट में लड़की के साथ हुए यौन दुराचार की पुष्टि नहीं हुई.

दिनदहाड़े छात्रा को अगवा कर किया सामूहिक दुष्‍कर्म

पुलिस के अनुसार लड़की के शरीर पर जख्म तो थे और साथ ही एक निशान उसकी जांघ पर भी था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की के साथ हुए दुराचार की रिपोर्ट लड़की की माँ ने दर्ज करवाई. उनके अनुसार बीते सोमवार की रात उनकी लड़की दो मंजिला घर के ग्राउंड फ्लोर पर सो रही थी. तभी तीन बदमाश दीवाल से चढ़कर आए और लड़की को अगवा कर लिया और पास वाले स्कूल में ले गए. स्कूल में ले जाकर उन्होंने बंदूक की नोक पर लड़की के साथ रेप किया और उसके बाद वहां से फरार हो गए.

स्किन के लिए फायदेमंद होता है हाइड्रेटिंग फेस मास्क

परिवारवालों के अनुसार रात में जब लड़की की माँ की नींद खुली तो उन्होंने लड़की को देखा जो वहां मौजूद नहीं थी. लड़की को ना देखकर माँ ने अपने बेटे को खेत से घर पर बुलाया और लड़की की खोज की. बाद में लड़की डरी और सहमी हुई पास वाले स्कूल में मिली और उसने अपने साथ हुई घटना को अपनी माँ और भाई को बताया. उसके बाद में ने थाने में रिपोर्ट लिखवाई. जांच में खुलासा यह हुआ कि लड़की मुख्य आरोपी के सम्पर्क में बीते डेढ़ साल से थी और वह लगातार उससे फ़ोन पर बात भी करती थी. घटना के तीसरे दिन लड़की ने आत्महत्या कर ली.

खबरें और भी

नजरिया: अगले जनम मोहे बिटिया न कीजो...

अगर JJ एक्ट ठीक से लागू किया जाता तो नहीं होती मुजफ्फरपुर जैसी घटनाएं : सुप्रीम कोर्ट

रेप के मामले में सबसे तेज फैसला मध्यप्रदेश में, मात्र 24 घंटे में सुनाई सजा