Google Shoelace हुआ लॉन्च, बिना नेटवर्क के भी हो सकेंगे कनेक्ट

Google Shoelace हुआ लॉन्च, बिना नेटवर्क के भी हो सकेंगे कनेक्ट

अपने नए सोशल मीडिया ऐप ‘Shoelace’ को Google ने लॉन्च कर दिया है. इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए यूजर्स एक-दूसरे से ऑफलाइन में भी कनेक्ट कर सकेंगे. इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को गूगल के इन-हाउस टीम एरिया 120 यूनिट ने डिजाइन किया है. इस एक्सपेरिमेंटल प्लेटफॉर्म को ‘Shoelace’ के नाम से पेश किया गया है. इस सोशल मीडिया ऐप का मुख्य फोकस लोगों को रीयल लाइफ में इंगेज करना है. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

ये कंपनी ला रही है ऐसी तकनीक जो आपको देगा नेटवर्क से कनेक्ट किए बिना कॉल करने की अनुमति

प्राप्त जानकारी के अनुसार इंटरेस्ट बेस्ड मैचिंग ऐप की तरह ही Google Sholelace यूजर्स को एक-दूसरे से इंटरेस्ट और पर्सन एक्टिविटी के जरिए कनेक्ट करेगा. मान लीजिए की आप किसी नए शहर में गए हैं और आप अपनी तरह के इंटरेस्ट वाले लोगों से कनेक्ट होना चाहते हैं तो आप इस ऐप या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए कनेक्ट हो सकेंगे. आप अपने आस-पास रहने वाले लोगों को अपना दोस्त बना सकेंगे. आने वाले समय में यह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Facebook, Instagram जैसे कई ऐप्स को चुनौती दे सकता है.

Google : News tab में नया डिजाइन जल्द होगा रोल आउट, मिलेगी ये खास सुविधा

अपने बयान में Google ने कहा कि इस ऐप को इंस्टॉल करने के बाद यह यूजर से पूछेगा कि आप कम्युनिटी ज्वॉइन करना चाहते हैं कि नहीं. हर बार कम्युनिटी ज्वॉइन करते समय वेरिफिकेशन करना जरूरी होगा ताकि आपको आपकी इंटरेस्ट के लोगों के साथ लूप किया जा सकेगा. Google ने बताया कि हम इस ऐप को डेवलप करने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं ताकि आप इसमें प्रोफाइल से लूप तक सबको हाउस रूल और कम्युनिटी स्टैंडर्ड के तहत अलाइंड किया जा सके. इस ऐप में आप किसी लूप या प्रोफाइल को रिपोर्ट भी कर सकेंगे.

इस तारीख को लॉन्च होगा Honor 9X, सामने आया टीज़र

अमेरिका में Google Sholelace को फिलहाल उपलब्ध कराया गया है. इस ऐप को फिलहाल इन्वाइट ऑनली बेसिस पर उपलब्ध कराया जा रहा है. इस सोशल मीडिया ऐप को एंड्रॉइड और आइओएस दोनों पर उपलब्ध कराया गया है. इस सोशल मीडिया ऐप को ज्वॉइन करने के लिए यूजर्स के पास Google का अकाउंट होना चाहिए. इस सोशल मीडिया ऐप को Google+ के शट डाउन होने के कुछ महीने बाद ही लाया गया है. ऐसे में यह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Google+ के रिप्लेसमेंट के तौर पर देखा जा रहा है. Google+ के 52.5 मिलियन यूजर्स की प्राइवेसी कंसर्न और सिक्युरिटी ब्रीच की वजह से शट डाउन किया गया.

एंड्रॉइड का ये बग सभी एप्लिकेशन को यूज़र्स की जासूसी करने की अनुमति देता है

मीडियाटेक ने स्मार्ट होम और स्मार्टफोन के लिए युनिवेर्सल चिपसेट की घोषणा की

Suzuki Gixxer 155 से TVS Apache RTR 160 4V कितनी है अलग, जानिए तुलना