गूगल ने भी दी अंबेडकर को श्रद्धांजलि

Apr 14 2015 11:54 PM
गूगल ने भी दी अंबेडकर को श्रद्धांजलि
style="font-family: sans-serif; font-size: 16px; line-height: 20.7999992370605px; text-align: justify; background-color: rgb(249, 249, 249);">नई दिल्ली : सर्च इंजन गूगल ने मंगलवार को भारत के संविधान निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर को उनकी 124वीं जयंती पर याद किया। अंबेडकर एक विश्वस्तरीय विधिवेता एवं प्रख्यता दलित समर्थक नेता थे। वे बाबा साहेब के नाम से लोकप्रिय हैं। उन्होंने आजीवन लोगों के उद्धार और उन्हें समाज में जगह दिलाने के लिए काम किया। उन्होंने समाज से न सिर्फ दलितों के लिए रियायतें लीं, बल्कि समुदाय में आत्मविश्वास जगाने का काम भी किया। मराठी पृष्ठभूमि वाले परिवार से संबंध रखने वाले बाबा साहेब का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को महू (मध्य प्रदेश) में हुआ। उनका मूल नाम भीमराव रामजी अंबेडकर था। उनके पिता एक सैन्य अधिकारी थे।
 
दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने अपने चिर परिचित अंदाज में बाबा साहेब अंबेडकर को अपने मुखपृष्ठ डूडल पर श्रद्धांजलि दी। इस क्रम में उसने डूडल पर उनका चित्र उकेरा। अंबेडकर ने हिंदू समाज की वर्ण व्यवस्था को बदलने के लिए सारा जीवन संघर्ष किया। वह लक्ष्यों को हासिल करने के लिए शिक्षा को महत्वपूर्ण मानते थे। इसके प्रचार के लिए कई शैक्षणिक संस्थाओं की स्थापना भी की।
 
संविधान सभा के सदस्य होने के नाते उन्होंने संविधान निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दिया। जिसे दुनियाभर में उदार मूल्यों से रचे-बसे एक सर्वमान्य दस्तावेज के रूप में पहचान मिली। अंबेडकर एक मेधावी छात्र थे। उन्होंने कोलंबिया यूनिवर्सिटी एवं लंदन स्कूल ऑफ इक्नोमिक्स से कई विषयों में डिग्री ली। वर्ष 1990 में उन्हें देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया गया।