दर्दनाक घटना के बाद हुआ नेक काम

By Rohit Chandel
Dec 01 2017 04:12 PM
दर्दनाक घटना के बाद हुआ नेक काम

इंदौर. मध्यप्रदेश के इंदौर से एक ऐसी दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है जिसने सबको हिला कर रख दिया. गुरूवार की रात एक बुजुर्ग व्यक्ति सड़क हादसे का शिकार हो गया. दरअसल, शहर के राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र में एक बुजुर्ग सड़क किनारे खड़े बस का इंतजार कर रहे थे कि इसी दौरान उन्हे एक बेकाबू ऑटो रिक्शा ने टक्कर मार दी. जिसमे बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गए. इसके फौरन बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया. हालांकि इस घटना के बाद बुजुर्ग के परिजनो ने एक ऐसा फैसला लिया जिसने समाज को आइना दिखाने का काम किया है.

दरअसल बुजुर्ग के देहांत के बाद उनके परिजनों ने उनकी आंखे और शरीर की चमड़ी दान कर दी ताकि किसी जरूरतमंद को आँखों की रोशनी और शरीर दुरुस्त करने में मदद मिल सके. प्राप्त जानकारी के मुताबिक़, ये घटना शहर के राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र की है, जहां 70 साल के यशभाई पटेल मुम्बई जाने वाली बस का इंतजार कर रहे थे. उसी वक्त एक तेज रफ़्तार ऑटो ने बेकाबू हो यशभाई पटेल को टक्कर मार दी. टक्कर इतनी जोरदार थी वो उछल कर सड़क पर जा गिरे. इसके बाद राहगीरों ने गंभीर रूप से घायल बुजुर्ग पटेल को उपचार के लिए 108 एम्बुलेंस से एम .वाय .अस्पताल पहुँचाया.

इसके बाद घटना की जानकारी पीड़ित के परिजनों को दी गयी. परिजनों ने उपचार के लिए निजी अस्पताल में जाना मुनासिब समझा लेकिन उपचार के बाद भी यशभाई को बचाया नहीं जा सका. यशभाई की मौत बाद उनके परिजनों ने अंगदान करने का फैसला किया लेकिन देर हो जाने के कारण सिर्फ आंखे और स्किन ही दान की जा सकीं. परिवार की इस नेक पहल से कुछ लोगो को नई जिंदगी दी जा सकती है.

 

अन्नदाता आत्महत्या करे या आन्दोलन ?

पुरे देश में फटाखो पर बैन ?

ऐसी फनी हील्स के सैंडल कौन पहनता है भाई...

कोर्ट ने दिया खालिदा जिया की गिरफ्तारी का फरमान