पेट्रोल को लेकर राज्यों से आई ये राहत भरी खबर

देशभर में कच्चे तेल के आयात में कमी लाने के लिए सरकार की पेट्रोल में एथेनॉल ब्लेंडिंग के प्रयास रंग लाते नजर आ रहे है। पेट्रोल के साथ एथनॉल मिश्रण के उद्देश्य को सभी प्रदेशो तथा केंद्रशासित प्रदेशों में प्राप्त किया गया है। नवंबर को ख़त्म होने वाले विपणन वर्ष 2020-21 में यह मिश्रण स्तर तकरीबन 8.3 प्रतिशत तक पहुंचने की संभावना है।

वही पब्लिक सेक्टर की कंपनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि.एचपीसीएल) के एक अफसर ने शुक्रवार को यह कहा। वर्ष 2019-20 में पेट्रोल के साथ एथनॉल मिश्रण का स्तर 5 प्रतिशत था। भारतीय चीनी मिल (संघ इस्मा) के एक वेबिनार को संबोधित करते हुए, HPCL के कार्यपालक निदेशक सी श्रीधर गौड़ ने बताया कि मौजूदा एथनॉल आपूर्ति वर्ष (दिसंबर से नवंबर) में एथनॉल मिश्रण स्तर बीते दो सालों में 5 प्रतिशत के औसत से तकरीबन 8.2-8.3 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि एथनॉल मिश्रण समारोह पूरे देश में पहुंच गया है।

इसके साथ ही गौड़ ने कहा, ''सिक्किम आखिरी प्रदेश था। चार दिन पहले, हम सिक्किम भी पहुंचे। सभी प्रदेशो में एथनॉल मिलाने का काम हो रहा है।'' गौड़ ने बताया कि सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में एथनॉल मिश्रण लक्ष्य को प्राप्त किया गया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि वर्ष 2021-22 एथनॉल आपूर्ति अथवा विपणन वर्ष में पेट्रोल में 10 प्रतिशत मिलाने का स्तर प्राप्त कर लिया जाएगा।

जलमग्न हुआ हैदराबाद..., 2 लोग बहे, Video में देखें ताबाही का भयावह मंजर

आर्यन खान को मिला सोनू सूद का सपोर्ट, स्वरा भास्कर ने भी कह डाली ये बड़ी बात

फ्लिपकार्ट पर शॉपिंग करते समय रहे सतर्क, डिलीवरी ब्वॉय ने चीटिंग कर उड़ाए 50 हजार रुपये

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -