किसानों के लिए अच्छी खबर! अब सस्ती दर पर आसानी से मिलेगा लोन, जानिए कैसे?

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री किसान योजना की 10वीं किस्त केंद्र सरकार जारी कर चुकी है. सरकार की इस स्कीम का फायदा भारत के करोड़ों अन्नदाताओं को मिल रहा है. बता दें कि सरकार इस स्कीम के तहत अन्नदाताओं को सस्ती दर पर लोन भी प्रदान कराती है. दरअसल आत्म निर्भर भारत स्कीम के तहत प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना तथा किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम आपस में लिंक हैं. इसी किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम पर सरकार अन्नदाताओं को सस्ती दर पर लोन उपलब्ध करा रही है.

वही किसानों को फसलों की बुवाई के लिए बैंकों से बहुत कम ब्याज दर पर लोन प्राप्त होता है. यह लोन किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से ही दिया जाता है. इस स्कीम में अन्नदाताओं को 3 लाख रुपए तक का लोन बगैर गारंटी के दिया जाता है. वहीं 5-3 लाख रुपए का शॉर्ट टर्म लोन केवल 4 फीसदी की ब्याज दर पर प्रदान कराया जाता है. इस लोन पर सरकार 2 फीसदी की सब्सिडी देती है. वहीं वक़्त पर लोन चुकाने पर 3 फीसदी की छूट दी जाती है. इस प्रकार यह लोन केवल 4 फीसदी पर प्राप्त होता है मगर यदि लोन चुकाने में देरी होती है तो इस लोन की ब्याज दर 7 फीसदी बैठती है.

कैसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड?
1. किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आप तहसील जाकर लेखपाल से मुलाकात करे. 
2. अब उनसे अपनी भूमि की खसरा-खतौनी निकलवाएं.
3. तत्पश्चात, किसी भी बैंक में जाएं तथा मैनेजर से मिलकर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने की मांग करें.
4. यहां पर ध्यान रखें कि किसान क्रेडिट कार्ड किसी ग्रामीण बैंक से बनवाएंगे तो उसमें सरकार की ओर से इनसेंटिव वगैरह दिए जाते हैं जिसका अन्नदाताओं को लाभ प्राप्त होता है.
5. इसके पश्चात् बैंक मैनेजर आपको अधिवक्ता के पास भेजेगा तथा आवश्यक जानकारियाँ लेगा. 
6. इसके पश्चात् आपको बैंक में जाकर एक फॉर्म भरना होगा.
7. इसके साथ कुछ कागजी कार्रवाई होगी. जिसके पश्चात् आपका किसान क्रेडिट कार्ड बन जाएगा.
8. इसमें लोन की सुविधा कितनी प्राप्त होगी, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी भूमि कितनी है.

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 678 मिलियन अमरीकी डॉलर से गिरकर 634.28 बिलियन अमरीकी डॉलर हुआ

'Pegasus पर जवाब दे PMO ..', NYT की रिपोर्ट को लेकर केंद्र पर हमलावर हुई कांग्रेस

जिस तस्वीर का बंगाल पुलिस ने किया Fact Check, उसे इस्तेमाल कर NBT और दैनिक जागरण ने फैलाया झूठ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -