यहां की घड़ियाँ दौड़ती है उलटी दिशा में और फेरे भी होते हैं उलटे, जानिए रहस्य

आपने सभी घड़ी तो पहनते ही है और ये भी जानते हैं कि इसकी सुइयां हमेशा एक ही दिशा में घूमती है. घडी की सुइयां हमेशा ही दाईं से बायीं ओर चलती है. इसके आलावा आपने भी कोई ऐसी घड़ी नहीं देखि होगी जो उलटी दिशा में घूमती हो. दाई ओर चलती हुई सुईयां अक्सर हमें सही समय का ज्ञान कराती हैं, लेकिन जरा सोचिए अगर यह घड़ी की सुई अगर उल्टी दिशा में चलने लगे तो क्या होगा ? आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां घड़ी की सुई उल्टी दिशा में चलकर सही समय बताती है. जानिए कौनसी है वो घड़ी और कहाँ है.

विपरीत दिशा में चलती है यहां घडी

दरसल, गोंड़ समुदाय के आदिवासी परिवारों का कहना है कि उनकी घड़ी ही स्‍वाभाविक है जो प्रकृति के नियम अनुसार चलती है. उन्‍होंने अपने समय को गोंडवाना टाइम का नाम दिया है. यानि उनके अनुसार उनकी ही घड़ी सही दिशा में चलती है. इस विपरीत दिशा में चलने वाली घड़ी के पीछे यहां के लोगों का तर्क है कि पृथ्वी भी दायीं से बायीं ओर घूमती है. सूर्य, चंद्रमा और तारे भी इसी दिशा में अंतरिक्ष में यात्रा करते हैं. ऐसा ही कुछ लॉजिक लगाते हैं यहां के लोग.

उल्टी दिशा में लिए जाते है फेरे

इतना ही नहीं, गोंड जाती में नदी तालाब में पड़ने वाले भंवर और पेड़ के तने से लिपटी बेल सभी की दिशा यही होती है. इसी तरह शादी के समय फेरे भी दाहिने से बायीं ओर घूमकर लिए जाते हैं. इसलिए ये समुदाय मानता है कि दुनिया में प्रचलित घड़ियां प्रकृति के विरुद्ध उलटी दिशा में घूम रहीं, जबकि वे सही दिशा का पालन कर रहे हैं. साथ ही कहा जाता है यह घड़ी 32 समाज की घड़ियों में प्रचलित है. अब कौनसी घड़ी सही है ये तो कोई नहीं बता सकता.

अब गाड़ियों की नंबर प्लेट में जुड़ सकेंगे इमोजी, मिली इजाज़त

'क्रोकोडाइल हंटर' स्टीव की याद में गूगल ने बनाया इतना शानदार डूडल

यहां होती है अजीब परंपरा, एक लड़की को बनाने होते हैं 7 मर्दों से संबंध

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -