डेंगू की मार : दिल्ली में बकरी का दूध 800 रुपए/गिलास

नई दिल्‍ली : दिल्ली में चल रहा डेंगू का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है। डेंगू के इस कहर में मंगलवार को एक और मासूम को मौत के घाट उतार दिया है। मासूम श्रीनिवासपुरी का रहने वाला था। 6 साल का अमन डेंगू से कई दिनों से पीड़ित था। इससे पहले लाडोसराय के रहने वाले 7 साल के बच्चे अविनाश की भी डेंगू के चलते मौत हो गई थी। डेंगू की समस्या के समाधान ढूंढ रहे एम्स और सफदरजंग हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने बताया कि डेंगू से पीड़ित मरीजों को बकरी का दूध और पपीते के पत्ते का जूस सबसे ज्यादा फायदा करता है। इनके सेवन से बल्ड प्लेटलेट्स तेजी से बढ़ते हैं।

डॉक्टरों ने बताया कि पिछले दो हफ्ते के दौरान डेंगू के पीड़ित मरीजों से की गई बातचीत के मुताबिक दिल्ली में इन दिनों बकरी के दूध और पपीते के पत्ते के दाम आसमान पर पहुंच गए है। बकरी के दूध का एक ग्लास 800 रुपए का और पपीते का एक पत्ता 500 रुपए में मार्किट में बिक रहा है। जबकि सितंबर के प्रारम्भ में इनकी कीमत 500 रुपए और 200 थी।

सरकारी आंकड़ों में अब तक डेंगू से 10 मौत :- सरकारी रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में डेंगू से अब तक 10 मौतें हो चुकी हैं। हालांकि, मीडिया में आई खबरों के मुताबिक यह आंकड़ा 15 बताया जा रहा है। उधर, NDMC ने डेंगू के मच्छर को पनपने देने के लिए राष्ट्रपति भवन सहित गृह मंत्रालय को नोटिस जारी किए जाने और चालान काटे जाने की जानकारी दी है।

केजरीवाल ने किया हॉस्पिटल्स का दौरा :- डेंगू के बढ़ते कहर के चलते दिल्ली सरकार हरकत में आ गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई है। बैठक में डेंगू की बढ़ती समस्या के समाधान के लिए असेंबली का स्पेशल सेशन बुलाए जाने पर चर्चा की जा रही है। मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी GTB हॉस्पिटल, डॉ.हेडेगेवार आरोग्य अस्पताल की सरप्राइज विजिट की। उन्होंने कहा कि हम अस्पतालों में ज्यादा बेड और अस्पतालों के आसपास जगह का इंतजाम कर रहे हैं ताकि मरीजों का इलाज हो सके। दिल्‍ली स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सतेंद्र जैन ने अपनी गलती मानते हुआ कहा की दिल्‍ली के अस्‍पतालों में बिस्‍तर की कमी है। उन्‍होंने कहा कि अस्पतालों में 10,000 बेड और बढ़ाए जाएंगे।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -