गोवा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, 6 बार CM रहे प्रतापसिंह राणे ने लड़ने से किया इंकार

पणजी: गोवा के पूर्व सीएम और कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रतापसिंह राणे ने खुद को चुनावी दौड़ से अलग कर लिया है। कांग्रेस ने गोवा में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राणे को उनकी पारपंरिक सीट पोरियम से उम्मीदवार बनाया था। चुनाव न लड़ने का राणे का फैसला कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। हालांकि, इस बारे में राणे ने कोई वजह नहीं बताई है। मगर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने इस बात की पुष्टि की है कि पूर्व CM ने पार्टी को चुनाव न लड़ने के अपने फैसले से अवगत कराया है।

राणे के करीबी सूत्रों ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि पूर्व सीएम ने अपनी पुत्रवधू देविया राणे से सीधा मुकाबला टालने के लिए चुनावी नहीं लड़ने का निर्णय किया है। बता दें कि देविया राणे पोरियम से बतौर भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतर रही हैं। छह बार गोवा के सीएम रह चुके 87 वर्षीय राणे लगातार 11 बार पोरियम से MLA निर्वाचित हो जा चुके हैं।

कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि, 'प्रतापसिंह राणे ने पार्टी को बताया है कि वह पोरियम से चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसके बाद कांग्रेस ने उनके स्थान पर दूसरे उम्मीदवार का चयन कर लिया है।' बता दें कि भाजपा ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे की पत्नी देविया राणे को पोरियम से टिकट दिया है। अटकलें थी कि प्रतापसिंह राणे पोरियम से प्रत्याशी के लिए कांग्रेस को अपनी पत्नी विजया देवी का नाम सुझा सकते हैं। हालांकि, गुरुवार को पार्टी की तरफ से जारी संशोधित सूची में रणजीत राणे को पोरियम से कांग्रेस प्रत्याशी घोषित कर दिया गया।

'जो अपनी माँ का नहीं हुआ, वो जनता का क्या होगा..', नामांकन भरने के बाद सिद्धू पर बरसे मजीठिया

BJP में फिर से हो रही पार्टी छोड़ गए नेताओं की एंट्री

आपस में भिड़े भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -