घर नहीं लौटी 12 वर्षीय लड़की तो ढूंढ़ने निकले परिजन, जंगल में ऐसी हालत में मिली कि उड़ गए होश

गुना: मध्य प्रदेश के गुना जिले से एक दर्दनाक घटना सामने आ रही है जिसमे अपहरण के पश्चात् एक बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही एक अन्य अपराधी को हिरासत में ले लिया है। 

पुलिस के मुताबिक, पीड़ित बच्ची प्रातः लगभग 7.45 बजे घर से निकली थी तथा प्रातः 10 बजे तक नहीं लौटी। फिर घरवालों ने उसकी तलाशी आरम्भ की। खोजबीन करते हुए परिवार के सदस्य नजदीक जंगल के भीतर एक घुमंतू लोगों के डेरा (एक खानाबदोश जनजाति का अस्थायी निवास) पहुंचे तथा उन्होंने 4 लोगों को नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म करते पाया।

वही इस घिनौनी घटना को अंजाम देते अपराधियों को बच्ची के घरवालों ने ललकारा तो चारों मौके से फरार हो गए। इसके बाद पीड़िता को कुंभराज थाने लाया गया, जहां मुकदमा दर्ज कराने के लिए पीड़ित परिवार को चार घंटे प्रतीक्षा करने को कहा गया। इसके बाद स्थानीय लोगों ने जिला एसपी राजीव कुमार मिश्रा को मामले की खबर दी। तब जाकर पुलिस कप्तान के हस्तक्षेप के बाद थाने में सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया। पीड़िता को अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए चार घंटे से ज्यादा वक़्त तक प्रतीक्षा क्यों करवाई गई? इस पर पुलिस ने कहा कि कुंभराज थाने के थाना प्रभारी काम पर बाहर गए थे। एसपी के निर्देश पर आखिरकार पास के एक थाने से महिला पुलिस अफसर को बुलाया गया तथा शाम को सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस ने कहा कि चारों अपराधियों की पहचान ऐन सिंह, शक्ति सिंह, राकेश तथा बोकल सिंह कांजा के तौर पर हुई है। एक अपराधी को हिरासत में ले लिया गया है किन्तु उसकी पहचान का खुलासा नहीं किया गया है। वहीं, पीड़िता का मेडिकल परीक्षण करा लिया गया है तथा इस मामले में आगे की तहकीकात  जारी है। 

मंदिर में घंटे से कुचलकर 65 वर्षीय पुजारी की हत्या, ग्रामीणों में आक्रोश, सख्त कार्रवाई की मांग

मस्जिद के इमाम ने 8 माह की गर्भवती बीवी को छत से फेंककर मार डाला, कारण जानकर खौल उठेगा खून

'बहन कोई मुझे मारना चाहता है..', जंगल में पेड़ पर लटका मिला अखिलेश का शव

Most Popular

- Sponsored Advert -