यहाँ 3 लाख में मिलती है लुटेरी दुल्हन

Feb 16 2016 03:48 PM
यहाँ 3 लाख में मिलती है लुटेरी दुल्हन

सीकर : राजस्थान के सीकर जिले में बेटियों को खरीदने बेचने और कई परिवारों के साथ दुल्हनों के माध्यम से ठगी करवाने वाला गिरोह सामने आया है। दुल्हन हेतु दलालों द्वारा 3 लाख रूपए में या फिर इसके करीब के रेट्स पर दुल्हन उपलब्ध करवाते हैं। आश्चर्य की बात यह है कि अधिकांश मामलों में ठगी की बात की जाती है। दुल्हन शादी के कुछ समय बाद ज्वैलरी और नकदी लेकर भाग निकलती है।

भागने के बाद वर पक्ष के लोगों को जानकारी मिलती है कि दुल्हन उनका काफी सारा गहना और नकदी लेकर फरार हो गई। इस गिरोह की ऐसी ही एक दुल्हन सामने आई जिसने अब तक 34 बार विवाह किए और लोगों को इस तरह से ठग लिया। विवाद कर ठगी करने वालों को लेकर थोई क्षेत्र में एक प्रकरण दर्ज हुआ है। विवाह हेतु 5.40 लाख रूपए मिले थे। परिवार वहां पहुंचा तो लड़की वहां पर नहीं मिली।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में धोखाधड़ी के ये मामले अक्सर सामने आते हैं। यहां पर दुल्हन उपलब्ध करवाने वाले 100 से अधिक दलालों का रैकेट लगा हुआ है। महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, ओडिशा और असम से लड़कियां खरीदकर यहां लाई जाती हैं। चेहरा और इलाका देखकर भाव तय किए जाते हैं। प्रति वर्ष 100 से अधिक ठगी के मामले भी सामने आते रहे हैं।

ठगी के लिए दुल्हनें एक रात या फिर कुछ दिन ही ठहरती हैं साथ में जेवरात लेकर भाग निकलती हैं। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व परिवार दादिया पुलिस में शिकायत करने पहुंचा। ऐसे में दलाल के माध्यम से हरियाणा से दुल्हन लाई गई थी। शादी के तीसरी रात ही रूपए के गहने लेकर दुल्हन फरार हो गई। जांच के दौरान यह बात सामने आई कि हरियाणा की ऊषा बाई और सुमन रामकरण नामक दलाल इन महिलाओं से संपर्क में थे।

इन लोगों ने विवाह के लिए 5.40 लाख रूपए लिए थे मगर जब परिवार वहां पहुंचा तो लड़की नियत जगह पर नहीं मिली। दरअसल दुल्हन खरीदने के कई तरह के कारण हैं जिसमें बेटों की तुलना में बेटियां कम हैं। दोनों के बीच लिंगानुपात में बेहद अंतर है। जिले में शादी योग्य 17 हजार बेटियां कम हैं। दूसरे राज्यों से बेटियों को शादी हेतु खरीदकर लाया जा रहा है।