घी के आयात के खिलाफ सामने आई अमूल

भारत की सबसे बड़ी डेयरी मानी जाने वाली कम्पनी खुद देश के खिलाफ खड़ी हो गई है. साथ ही आपको यह भी बता दे की अमूल विदेशो से आयात किये जा रहे घी को लेकर विरोध प्रदर्शित कर रही है. सूत्रों का यह कहना है कि अमूल का यह विरोध काफी कड़ा मालूम हो रहा है. अमूल का इस मामले में यह कहना है कि विदेशों से घी मंगवाने से यहाँ के किसानों को दूध का सही दाम नहीं मिल पायेगा और इस कारण से उन्हें घाटे का सामना करना पड़ेगा.

गौरतलब है कि सरकार के द्वारा विदेशों से घी सस्ते दामों पर मंगवाए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और इस घी को घरेलु बाजार के मुकाबले आधे दाम पर बेचा जाना है. इस मामले में ही अमूल के द्वारा वाणिज्य मंत्रालय को भी एक पत्र लिखा गया है और बाहर से घी का आयात रोके जाने का आग्रह किया है. अमूल ने साथ ही यह भी कहा है कि यदि यह इम्पोर्ट नहीं रोक जाता है तो इससे काफी नुकसान होने की सम्भावना है.

फ़िलहाल बाजारों में घी का दाम 300 से लेकर 350 रु प्रति किलो बना हुआ है. और सरकार 170 रु प्रति किलो के दाम पर घी मंगवाने का काम कर रही है. यह भी सामने आया है कि जहाँ पीछे हफ्ते में कम्पनी ने 1300 मीट्रिक टन घी का आयात किया है वहीँ अगले महीने में सरकार 2500 मीट्रिक टन घी का आयात करने वाली है. सरकार ने कुल 5 हजार मीट्रिक टन घी का आयात करने का लक्ष्य निर्धारित किया है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -