नकल माफिया पर योगी सरकार का बड़ा ऐक्शन, सीज की करोड़ों की संपत्ति

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश टीईटी पेपर लीक केस में योगी सरकार एक्शन में दिखाई दे रही है। गाजीपुर जिला प्रशासन ने नकल माफिया के खिलाफ बड़ा कदम उठाया है। महेंद्र कुशवाहा नाम के निजी विद्यालय संचालक के खिलाफ नकल कराने तथा पेपर लीक करने को लेकर दायर मुकदमा में एक्शन लेते हुए कुशवाहा की निर्माणाधीन बिल्डिंग को प्रशासन ने मुनादी कराने के पश्चात् कुर्क कर लिया।

वही महेंद्र कुशवाहा की संपत्ति कुर्क किए जाने को लेकर सीओ सिटी ओजस्वी चावला ने कहा कि शिक्षा माफिया महेंद्र कुशवाहा के विरुद्ध सामूहिक नकल पेपर लीक करने आदि को लेकर सदर कोतवाली में एफआईआर कायम की गई थी। इसी मुकदमे के क्रम में कलेक्टर ने गैंगस्टर एक्ट के तहत की धारा 14 (1) के तहत महेंद्र कुशवाहा की संपत्ति को सीज करने का आदेश निर्गत किया है। रविवार को जिसके अनुपालन के क्रम में मुनादी कर शिक्षा माफिया कुशवाहा की संपत्ति सीज की गई है। सब रजिस्ट्रार की रिपोर्ट के मुताबिक, इस प्रॉपर्टी का कुल दाम 4 करोड़ 80 लाख आँका गया है।

वही इससे पूर्व महेंद्र कुशवाहा के भाई की प्रॉपर्टी भी सामूहिक नकल कराने पेपर लीक आदि करने के इल्जाम में दर्ज गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे के तहत सीज गई थी। कुशवाहा बंधुओं के उस वक़्त सुर्खियां बटोरी, जब एक बार उन्होंने TET का पेपर लीक कर दिया था। जिसमें कुशवाहा बंधुओं में से एक पारस कुशवाहा को गिरफ्तार किया गया था।

अफगान संकट पर भारत का साथ दे रहा ये मुस्लिम देश, पाकिस्तान को लगेगा झटका

'भारत गौरव' ट्रेन को लेकर आई ये बड़ी खबर

बदली इंडियन आर्मी की कॉम्बेट यूनीफॉर्म, जानिए क्या होंगे परिवर्तन?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -