8 दिसंबर को है गीता जयंती, लीजिए 3 महत्वपूर्ण सीख

Dec 05 2019 07:00 PM
8 दिसंबर को है गीता जयंती, लीजिए 3 महत्वपूर्ण सीख

हिन्दू शास्त्रों में गीता को सबसे महत्वपूर्ण कहा जाता है और महाभारत के युद्ध में श्रीकृष्ण द्वारा दिए गए उपदेश को गीता के रूप में पुकारा जाता है. ऐसे में हर साल गीता जयंती मनाई जाती है और इस साल यह गीता जयंती 8 दिसंबर को है. आप सभी को बता दें कि इस दिन को मोक्षदा एकादशी भी कहते हैं और ऐसी मान्यता है कि इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गीता का उपदेश दिया था. कहते हैं इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से मोक्ष मिल जाता है और इस एकादशी को महत्वपूर्ण कहा जाता है. 

मोक्षदा एकादशी 2019 तिथि - 8 दिसम्बर 2019
मोक्षदा एकादशी 2019 शुभ मुहूर्त
एकादशी प्रारंभ- 7 दिसम्बर 2019 सुबह 6 बजकर 34 मिनट से
एकादशी समाप्त- 8 दिसम्बर 2019 सुबह 8 बजकर 29 मिनट तक
पारण का समय- 9 दिसम्बर 2019 सुबह 7 बजकर 6 मिनट से 9 बजकर 9 मिनट तक

गीता में बताया गया है-

1- परिवर्तन संसार का नियम है और यहां सब बदलता है इस कारण से सुख-दुख, लाभ-हानि, जय-परायज, मान-अपमान आदि में एक भाव रखकर स्थिर रहना चाहिए.

2- गीता में लिखा है गए हुए कल और आने वाले कल की चिंता नहीं करना चाहिए, क्योंकि जो होना है वो होगा ही और जो होता है अच्छा होता है इसलिए अपने वर्तमान का आनंद लो.

3-  गीता में लिखा है अपने गुस्से पर काबू रखें और क्रोध से भ्रम पैदा होता और भ्रम से बुद्धि विचलित होती है. कहते हैं इससे स्मृति का नाश हो जाता है और इस प्रकार व्यक्ति का पतन होने लगता है क्योंकि क्रोध, कामवासना और भय ये हमारे शत्रु है.

यहाँ होती है विवाह रेखा, जानिए कब और कितनी होंगी आपकी शादी

हाथो की रेखाएं देखने का आसान तरीका, बस इन बातो का रखे धयान

जानिये शादी से पहले कुंडली मिलाना क्यों है जरुरी