कोरोना वैक्सीन वितरण में देरी से अगले वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि की संभावनाएं हो सकती है प्रभावित

By News Track
Jan 14 2021 09:32 AM
कोरोना वैक्सीन वितरण में देरी से अगले वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि की संभावनाएं हो सकती है प्रभावित

बोफो सिक्योरिटीज ने कहा कि कोरोना वैक्सीन वितरण में देरी से अगले वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि की संभावनाएं प्रभावित हो सकती हैं और भारतीय रिजर्व बैंक जून तक नीतिगत दरों में 50 बीपीएस की कटौती कर सकता है।

विदेशी ब्रोकरेज ने कहा कि अगर वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन नए फिस्कल ईयर की पहली छमाही में किया जाता है तो 2021-22 में जीडीपी ग्रोथ 9 प्रतिशत रहने की उम्मीद है लेकिन अगर डिस्ट्रीब्यूशन में दूसरी छमाही यानी अक्टूबर-मार्च में देरी होती है तो यह सिर्फ 6 प्रतिशत पर हो सकता है।

चालू वित्त वर्ष के लिए, यह उम्मीद करता है कि जीडीपी 6.7 प्रतिशत के अनुबंध के अनुसार सरकार के अनुमान के अनुसार 7.7 प्रतिशत संकुचन होगा। यह ध्यान दिया जा सकता है कि हाल के दिनों में गहरी दर में कटौती सहित नीतिगत उपायों का एक समूह लिया गया है, जो कि आरबीआई के लिए निर्धारित सीमा के ऊपरी छोर से मुद्रास्फीति में वृद्धि के कारण रुका हुआ था।

बाजार मुनाफे में हुई कटौती, 14565 पर रहा निफ्टी

विदेशी मुद्रा की बढ़त के साथ बंद हुआ बाजार

कोल इंडिया ने वित्त वर्ष 21 कैपेक्स को 30 प्रतिशत से बढ़ाकर किया 13,000 करोड़ रुपये