रोज करना चाहिए गायत्री मंत्र का जाप, होते हैं बड़े फायदे

हिंदू धर्म में नियमित रूप से मां गायत्री की पूजा-आराधना की जाती है। कहा जाता है हर दिन विधि-विधान से पूजा अर्चना के अलावा गायत्री मंत्र का जाप भी करना चाहिए क्योंकि यह लाभदायक होता है। जी दरअसल गायत्री मंत्र को सर्वश्रेष्ठ मंत्रों में एक माना जाता है। केवल यही नहीं बल्कि वेदों में गायत्री मंत्र का विस्तार पूर्वक से वर्णन किया गया है। जी दरअसल धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गायत्री मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और इसी के साथ मन के दुःख, द्वेष, पाप, भय, शोक जैसे नकारात्मक चीजों का अंत हो जाता है। कहा जाता है इस मंत्र के जाप से मनुष्य मानसिक तौर पर जागृत हो जाता है और इसी के साथ ही ऐसा भी कहा जाता है कि इस मंत्र में इतनी ऊर्जा है कि नियमित रूप से तीन बार इसका जाप करने से सारी नकारात्मक शक्तियां नष्ट हो जाती हैं। जी दरअसल हर दिन तीन बार गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए और गायत्री मंत्र के जाप से कई चमत्कारी लाभ भी मिलते हैं। अब हम आपको बताते हैं गायत्री मंत्र का हिंदी अर्थ और इसके जाप से होने वाले फायदे


गायत्री मंत्र: 'ॐ भूर्भव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्।'

गायत्री मंत्र का हिंदी अर्थ: 'उस सर्वरक्षक प्राणों से प्यारे, दुःखनाशक, सुखस्वरूप, श्रेष्ठ, तेजस्वी, पापनाशक, देवस्वरूप परमात्मा को हम अन्तः करण में धारण करें। वह परमात्मा हमारी बुद्धि को सन्मार्ग में प्रेरित करे।'

आप सभी को बता दें कि गायत्री मंत्र जाप का समय मान्यताओं के अनुसार तीन बार करना चाहिए। इनमे पहला समय है सूर्योदय से ठीक पहले, दूसरा समय है दोपहर का और तीसरा समय है सूर्यास्त से ठीक पहले। कहा जाता है विद्यार्थियों के लिए गायत्री मंत्र बहुत लाभदायक है। जी दरअसल ऐसी मान्यता है कि रोजाना इस मंत्र का 108 बार जाप करने से विद्यार्थी को सभी प्रकार की विद्या प्राप्त करने में आसानी होती है। इसके अलावा पढ़ाई में मन लगने लगता है और एक बार में ही पढ़ा हुआ सब याद हो जाता है।

आज करें इन 5 चमत्कारी मंत्रों का जाप, पूरी होगी हर इच्छाएं

गुप्त नवरात्र में करें इन मन्त्रों का जाप, मिलेगी अथाह धन-दौलत

सूर्य देव को इन मन्त्रों से करें खुश, होगा बड़ा चमत्कार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -