क्या आप जानते हैं गायत्री मन्त्र से जुडी यह 5 बातें

आप सभी इस बात से वाकिफ ही होंगे कि हिन्दू धर्म में गायत्री मंत्र को सबसे उत्तम और सर्वश्रेष्ठ माना जाता है और यह एक ऐसा मंत्र है जो न सिर्फ हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों की जुबान पर रहा करता है. वहीं यह अन्य धर्म के लोग भी अच्छी तरह से जानते हैं और इसका जाप करते हैं. ऐसे में आज हम बताने जा रहे हैं गायत्री मंत्र के जाप से क्या फायदे होते हैं और इसे कैसे किया जा सकता है.

1. कहते हैं वेदों की कुल संख्या चार है और चारों वेदों में गायत्री मंत्र का उल्लेख किया गया है वहीं इस मंत्र के ऋषि विश्वामित्र हैं और देवता सवितृ हैं.

2. कहा जाता है इस मंत्र में इतनी शक्ति है कि नियमित तीन बार जप करने वाले व्यक्ति के आस-पास नकारात्मक शक्तियां, भूत-प्रेत और ऊपरी बाधाएं नहीं रहती है.

3. ऐसा भी कहा जाता है गायत्री मंत्र के जप से हर कार्य में सिद्धि मिलती है और इसका अर्थ है 'उस प्राणस्वरूप, दुःखनाशक, सुखस्वरूप, श्रेष्ठ, तेजस्वी, पापनाशक, देवस्वरूप परमात्मा को हम अन्तःकरण में धारण करें। वह परमात्मा हमारी बुद्धि को सन्मार्ग में प्रेरित करे.

4. कहा जाता है इस मंत्र के जप से बौद्धिक क्षमता और मेधा शक्ति यानी स्मरण की क्षमता बढ़ जाती है और इससे व्यक्ति का तेज बढ़ता है साथ ही दुःखों से छूटने का रास्ता मिल जाता है.

5. आप सभी को बता दें कि गायत्री मंत्र का जप सूर्योदय से दो घंटे पूर्व से लेकर सूर्यास्त से एक घंटे बाद तक करने से लाभ होता है.

इन राशिवालों को भूलकर भी नहीं पहनना चाहिए हीरा वरना जा सकती है जान!

अगर आप भी डालते हैं पक्षियों को दाना तो पढ़ लें यह खबर वरना होगा बहुत बुरा

अगर आपके हाथ के अंगूठे में बना है आधा चाँद तो जल्दी पढ़ ले यह खबर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -