हत्या के विरोध में गया बंद, पुलिस ने गठित की SIT

गया : नीतीश सरकार भले ही बिहार में बढ़ रहे गुंडराज से इंकार कर रही हो, लेकिन लगातार हो रही घटनाएं अपनी गाथा स्वंय गा रही है। गया में केवल ओवरटेक करने पर गोली मारने वाला जदयू की नेता मनोरमा देवी का बेटा रॉकी अब भी पुलिस की पहुंच से दुर है। हादसे के 36 घंटे बीत जाने् के बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। इस हत्या के मामले में एसपी के नेतृत्व में एसआईटी टीम का गठन किया गया है। रॉकी गिरफ्तारी के लिए बीती रात कई राज्यों में छापेमारी की गई।

दूसरी और हत्या के विरोध में एनडीए समर्थित दलों और आम लोगों ने गया बंद किया है। बंद समर्थक एमएलसी के बेटे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सुबह से सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। हत्या के विरोध में गया पूरी तरह बंद है। हांलाकि पुलिस ने नेता के पति बिंदी यादव और मनोरमा देवी के बॉडीगार्ड को हिरासत में ले लिया है। घटना के वक्त बॉडीगार्ड रॉकी के साथ ही था। बिंदी पर बेटे को भगाने का आरोप है।

शनिवार रात बर्थडे पार्टी से आ रहे आदित्य की कार ने रॉकी की रेंज रोवर कार को ओवरटेक कर दिया, जिसको लेकर रॉकी और आदित्य और उसके दोस्त की बीच कहासुनी हो गई थी, जिसके बाद रॉकी ने आदित्य की स्विफ़्ट कार पर गोली चला दी, जिसमें आदित्य की मौत हो गई।

आदित्य के साथ मौजूद उसके दोस्त ने बताया कि जैसे ही उन्होने रेंज रोवर को ओवरटेक किया, रॉकी के बॉडीगार्ड ने हवा में फायरिंग शुरु कर दी। हम बोधगया से लौट रहे थे, तभी उन लोगों ने हमें कार से जबरन निकाला और मारने लगे। जब हम वहां से भागने लगे तो किसी ने गोली चलाई जो आदित्य को लग गई।

बता दें कि मनोरमा देवी बिहार विधान परिषद की सदस्य हैं और उनके पति बिंदी यादव एक कुख्यात बाहूबली माने जाते हैं। बॉडीगार्ड राजेश कुमार का कहना है कि दूसरी कार से गरमा गरमी के बाद रॉकी ने गोली चलाई थी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -