खेलो इंडिया यूथ गेम्स में शामिल हुए ये 5 पारंपरिक खेल, आप कितना जानते हैं इनके बारे में ?

चंडीगढ़: आगामी 4 जून से लेकर 13 जून 2022 तक खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 का आयोजन हरियाणा में होने वाला है। इनमें अंडर-18 आयु वर्ग के 25 खेलों में भारतीय मूल के 5 खेल भी शामिल किए गए हैं। ये खेल पंचकूला के अलावा शाहाबाद, अंबाला, चंडीगढ़ और दिल्ली में खेले जाएंगे। इन खेलों में तक़रीबन 8,500 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। खेलो इंडिया यूथ गेम्स का आगाज़ वर्ष 2018 में हुआ था और इसका क्रेडिट तत्कालीन खेल मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर को जाता है। खेलो इंडिया गेम्स में पहली बार 5 पारंपरिक भारतीय खेलों  गतका, थांग-ता, योगासन, कलारीपायट्टू और मलखंभ को शामिल किया गया है। इनमें गतका, कलारीपयट्टू और थांग-ता पारंपरिक मार्शल आर्ट्स हैं, जबकि मलखंभ और योगासन शारीरिक व्यायाम से जुड़े हुए खेल हैं।

देश के अपने माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच, Koo ऐप पर इस संबंध में जानकारी देते हुए मिनिस्ट्री ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स (@YASMinistry) ने एक के बाद एक कई पोस्ट्स किए हैं। इनमें से पहले खेल के बारे में मिनिस्ट्री ने Koo करते हुए कहा है कि, 'व्यायाम की एक प्रणाली, जिसमें सांस पर नियंत्रण और खिंचाव शामिल है, जो हमारे दिमाग और शरीर को आराम देने में मदद करता है। ऐसा माना जाता है कि इसकी शुरुआत सभ्यता के जन्म के साथ हुई थी!' 

 

वहीं, एक अन्य Koo पोस्ट करते हुए मंत्रालय ने लिखा है कि,  'क्या आप जानते हैं गतका #KheloIndiaYouthGames2021 में शामिल 5 स्वदेशी खेलों में से एक है? यह कलाबाजी और तलवारबाजी का मिश्रण है और 17वीं शताब्दी के अंत में मुगल साम्राज्य से लड़ते हुए सिख योद्धाओं के लिए आत्मरक्षा के हिस्से के रूप में शुरू किया गया था।'

 

थांग-ता के बारे में बताते हुए मिनिस्ट्री ने कहा है कि '#DidYouKnow थांग-ता #KheloIndiaYouthGames2021 में शामिल 5 स्वदेशी खेलों में से दूसरा है? इसमें श्वास की लय के साथ मिश्रित गतियाँ शामिल हैं। इसे मणिपुर के युद्ध के माहौल के बीच विकसित किया गया था और इसकी भू-राजनीतिक सेटिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।'

 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी Koo ऐप करते हुए खेलो इंडिया यूथ गेम्स में शामिल होने वाले पाँच पारम्परिक खेलों के संबंध में जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि, 'हरियाणा में होने वाले चौथे खेलो इंडिया यूथ गेम्स में 5 ट्रेडिशनल गेम्स को शामिल किया जाएगा। गतका, थांग-ता, योगासन, कलारीपायट्टु और मलखंभ। सबसे बड़ा कंटिंजेंट 8500 खिलाड़ियों का इस यूथ गेम्स में आने वाले है।'

 

खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 में शामिल हुए कौन से 5 खेल:-

गतका :- 

पंजाब सरकार ने गतका खेल को मार्शल आर्ट्स के रूप में मान्यता दे रखी है, जिसे पहली दफा यूथ खेलो इंडिया गेम्स में शामिल किया गया है। गतका निहंग सिख योद्धाओं की पारंपरिक युद्ध शैली है। खिलाड़ी इसका इस्तेमाल आत्मरक्षा के साथ खेल के तौर पर भी करते हैं। सिखों के धार्मिक उत्सवों में इस कला का शस्त्र संचालन प्रदर्शन किया जाता है।

थांग-ता:- 

थांग-ता एक मणिपुरी प्राचीन युद्धकला है। इसमें कई किस्म की युद्ध शैलियाँ शामिल हैं। थांग शब्द का मतलब तलवार और ता शब्द का भाला होता है। इस तरह थांग-ता खेल तलवार, ढाल और भाले के साथ खेला जाता है। यह कला आत्मरक्षा तथा युद्ध कला के साथ पारंपरिक लोकनृत्य के तौर पर भी जानी जाती है।

योगासन:-

योग भारतीय संस्कृति की प्राचीन विरासत है और योग मनुष्य के शरीर और दिमाग को फायदा पहुँचाता है। आजकल सभी खेलों के खिलाड़ी अपने प्रैक्टिस शेड्यूल में योग को अवश्य शामिल करते हैं। योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के तौर पर विकसित करने के प्रयास के तहत इसे खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2022 में शामिल किया गया है।

कलारीपायट्टू:-

कलारीपायट्टू केरल का पारंपरिक मार्शल आर्ट है। इस खेल को कलारी के तौर पर भी जाना जाता है। इसमें पैर से हमला, मल्लयुद्ध और पूर्व निर्धारित तरीके शामिल हैं। कलारीपयट्टू को विश्व की सबसे प्राचीन युद्ध पद्धतियों में गिना जाता है। यह केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक सहित पूर्वोतर देश श्रीलंका और मलेशिया के मलयाली समुदाय के बीच भी बहुत लोकप्रिय है।

मलखंभ:-

मलखंभ भारत का प्राचीनतम पारंपरिक खेल है। यह दो शब्दों के मेल से बना हुआ है, जिसमें मल्ल शब्द का मतलब योद्धा और खंभ शब्द का खंभा होता है। इसमें खिलाड़ी लकड़ी के एक खंभे से सहारे फिटनेस से संबंधित अलग-अलग योग और करतब दिखाकर अपनी शरीरिक लचक का प्रदर्शन करता हैं। मलखंभ में काफी कम वक़्त में शरीर के सभी हिस्सों की करसत की जा सकती है। इस खेल को सबसे पहले मध्य प्रदेश ने साल 2013 में राज्य खेल घोषित किया था।

मुंबई इंडियंस की हार के बाद भी खुश हैं कप्तान रोहित शर्मा, बताया क्या है प्रसन्नता का कारण

उमरान मलिक ने अपनी रफ़्तार से मचाई सनसनी, तोड़ डाला 'बुमराह' का 5 साल पुराना रिकॉर्ड

चीन में बढ़ते कोरोना के मामलों की वजह से हांगझोऊ एशयिाई पैरा खेल हुआ स्थगित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -