विशाखापट्टनम में देर रात फिर हुआ रिसाव, खाली कराये गये गांव

एक बार फिर से आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम स्थित रसायन फैक्टरी से देर रात गैस के रिसाव की खबर आयी और इससे प्रशासन की हालत खराब हो गई है. जी दरअसल हाल ही में अग्निशमन अधिकारी संदीप आनंद ने मामले को लेकर कहा कि ''एहतियातन तीन किमी तक गांव खाली कराने का काम किया जा रहा है. लेकिन पुलिस ने कहा कि मेंटिनेंस के चलते रिसाव की अफवाह उड़ी.'' वहीं समाचार एजेंसी एएनआई की मानें तो गैस का रिसाव उसी जगह से शुरू हुआ जहां से सुबह स्टाइरीन लीक हुआ था.

आप सभी को बता दें कि जिले के अग्निशमन अधिकारी संदीप आनंद के अनुसार एनडीआरएफ के सहयोग से लगभग 50 फायर कर्मचारी ऑपरेशन को अंजाम दे रहे हैं. इसी के साथ 2-3 किमी के दायरे में गांवों को सुरक्षित और सावधानियों के लिए खाली करने का आदेश दिया जा चुका है. खबरों के मुताबिक 2 फोम टेंडर सहित 10 और फायर टेंडर भी मौके पर पहुंचे हैं और एम्बुलेंस भी वहां किसी भी आपात स्थिति के लिए खडी है.

इस मामले में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि, ''आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक रसायन संयंत्र में गैस लीक होने की घटना की अच्छी तरह जांच होनी चाहिये.'' इसी के साथ ही गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने दैनिक प्रेस ब्रीफिंग में कहा, ''हम इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के प्रति शोक व्यक्त करते हैं और प्रभावित लोगों के जल्द ठीक होने की कामना करते हैं. इस तरह की घटनाओं की स्थानीय अधिकारियों को अच्छी तरह जांच करनी चाहिये.''

विशाखापट्टनम में जहरीली गैस बनी लोगों का काल, 10 मिनट के भीतर प्रभावित की ले सकती है जान

आज प्रेस वार्ता करने वाले थे राहुल गाँधी, विशाखापट्टनम हादसे के कारण टाली

इस शहर में केमिकल गैस हुई लीक, 5 लोगों ने गवाई जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -