गणेश चतुर्थी: इन मन्त्रों के साथ बप्पा के मनपसंद 21 पत्तों से करें उनका पूजन

गणेश उत्सव का आज चौथा दिन है। यह पर्व 10 सितंबर से शुरू हुआ है और 19 सितंबर तक चलने वाला है। ऐसे मेंआज हम आपको बताने जा रहे हैं श्रीगणेश के मनपसंद पत्तों और उसके मंत्रों का शास्त्रोक्त विधान। जी दरअसल आप गणेश उत्सव के आखिरी दिन आप उन्हें इन पत्तों को चढ़ाकर इन मन्त्रों का जाप कर सकते हैं जिससे आपको बड़े लाभ होंगे।


1. भगवान श्रीगणेश को शमी पत्र चढ़ाकर 'सुमुखाय नम:' कहें।

2. बिल्वपत्र चढ़ाते वक्त कहे 'उमापुत्राय नम:।'

3. दूर्वादल चढ़ाते वक्त कहे 'गजमुखाय नम:।'

4. बेर चढ़ाते वक्त कहे 'लम्बोदराय नम:।'

5. धतूरे का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'हरसूनवे नम:।'

6. सेम का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'वक्रतुण्डाय नम:।'


7. तेजपत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'चतुर्होत्रे नम:।'

8. कनेर का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'विकटाय नम:।'

9. कदली या केले का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'हेमतुंडाय नम:।'

10. आक का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'विनायकाय नम:।'

11. अर्जुन का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'कपिलाय नम:।'

12. महुआ का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'भालचन्द्राय नम:।'

13. अगस्त्य वृक्ष का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'सर्वेश्वराय नम:।'


14. वनभंटा चढ़ाते वक्त कहे 'एकदन्ताय नम:।'

15. भंगरैया का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'गणाधीशाय नम:।'

16. अपामार्ग का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'गुहाग्रजाय नम:।'

17. देवदारु का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'वटवे नम:।'

18. गान्धारी वृक्ष का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'सुराग्रजाय नम:।'

19. सिंदूर वृक्ष का पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'हेरम्बाय नम:।'

20. केतकी पत्ता चढ़ाते वक्त कहे 'सिद्धिविनायकाय नम:।'

21. आखिर में दो दूर्वादल गंध, फूल और चावल गणेशजी को चढ़ा दें।

राशिनुसार श्री गणेश जी के मन्त्र पढ़कर करने उन्हें खुश

PM मोदी के दौरे से पहले अलीगढ़ भाजपा कार्यालय में तोड़फोड़ करने वाला बाबू सिद्दीकी गिरफ्तार

शक में दोस्तों और पिता के साथ पति ने की पत्नी की पिटाई और उतार दिए कपड़े

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -