सर्वपितृ अमावस्या के दिन इस विधि से करें गजेंद्र मोक्ष स्तोत्र का पाठ

Sep 15 2020 04:20 PM
सर्वपितृ अमावस्या के दिन इस विधि से करें गजेंद्र मोक्ष स्तोत्र का पाठ

आने वाले 17 सितंबर 2020, यानी गुरुवार को पितृमोक्ष अमावस्या का पर्व मनाया जाने वाला है। वैसे सर्वपितृ अमावस्या को गजेंद्र मोक्ष का पाठ अवश्य करने के बारे में कहा जाता है। कहते हैं इस पाठ को करने से हर संकट कट जाता है। जी दरअसल इस पाठ को पढ़ने से पितृ दोष भी खत्म हो जाता है। इसके अलावा इसके पाठ का श्रवण होने से पितृ देव अपने प्रियजनों को सुख-समृद्धि और धन-ऐश्वर्य, स्वास्थ्य प्राप्ति का आशीष भी देते हैं।

वैसे तो गजेंद्र मोक्ष स्तोत्र का पाठ पितृ पक्ष में 16 दिनों तक करना चाहिए, लेकिन अगर आपसे ऐसा ना हो पाए तो आप केवल और केवल सर्वपितृ अमावस्या के दिन इसका पाठ कर सकते हैं लेकिन ध्यान रहे पाठ अवश्य करें। जी दरअसल इसका पाठ करने से सभी कष्ट कम हो जाते हैं। वैसे इसका पाठ आप दिन में भी कर सकते हैं और शाम को भी। वहीँ कहा जाता है इसका पाठ सायंकाल के समय करना शुभ और अधिक फलदायी होता है। वैसे आज हम आपको बताने जा रहे हैं गजेंद्र मोक्ष स्तोत्र का संपूर्ण पाठ करने की विधि।

कैसे करें पाठ, पढ़ें विधि : -
 
1. इसके लिए सबसे पहले एक दीपक जलाएं तथा दक्षिण दिशा की ओर मुख कर यह पाठ करें। 
 
2. अब इसके बाद यह पाठ जब पूरा हो जाए तो श्रीहरि विष्णु का स्मरण करें। अब इसके बाद आप उनसे और अपने घर के पितरों से प्रार्थना करें कि आपके घर से पितृ दोष को दूर करें और कर्ज मुक्ति के साथ ही आपके जीवन को खुशहाल कर दें। 
3. अब यह सब करने के बाद आप पितरों को जलेबी का भोग लगाएं।
 
4. ध्यान रहे इस दौरान कम से कम 108 बार पितृ मंत्रों का जाप करें।

सिर्फ 5.22 लाख में Citroen ने लॉन्च की अपनी इलेक्ट्रिक कार Ami

कोरोना वायरस के बाद अब इस वायरस से है स्पेन को खतरा

उपाध्यक्ष अतींद्र भारद्वाज के कोरोना रोगी पिता को नहीं मिला उपचार, सामने आई अस्पताल की ये तस्वीर