गगन नारंग के जन्मदिन पर जानें उनके जीवन से जुड़ी खास बातें

भारतीय निशानेबाज गगन नारंग (Gagan Narang) का आज 35वां जन्मदिन हैं. गगन नारंग का जन्म सन 1983 को चेन्नई में हुआ था. गगन नारंग पहले भारतीय है जो लंदन ओलंपिक के लिए क्वालिफाइड हुए थे. गगन नारंग ने सन 2012 में लंदन ओलंपिक में हुई पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में 701.1 अंकों के साथ के साथ कांस्य पदक जीता था.

करियर: भारतीय निशानेबाज गगन नारंग ने अपने करियर की शुरुआत 14 साल की उम्र में की थी. सन 1997 में Gagan Narang को उनके पिता ने उपहार में एक एयर पिस्तौल दी थी.

निशानेबाज खेल की शुरुआत: निशानेबाज गगन नारंग सन 2003 में हैदराबाद में एफ्रो एशियाई गेम्स खेला था इस गेम में गगन ने पुरुष की 10m एयर राइफल प्रतिस्पर्धा में सन 2003 में स्वर्ण पदक जीता था.

गगन नारंग ने अपने बेहरीन प्रर्दशन से बढ़ाया देश का मान सम्मान: सन 2006 में भारतीय निशानेबाज गगन नारंग ने मेलबोर्न में हुए Commonwealth Games में अलग-अलग प्रतिस्पर्धाओ में अपने बेहतरीन प्रर्दशन से चार स्वर्ण पदक जीत कर अपने देश का गौरव बढ़ाया था . 2008 में निशानेबाज गगन नारंग ने चीन में हुए वर्ल्डकप में अपना शानदार प्रर्दशन देकर स्वर्ण पदक जीता था . इसी सन में गगन ISSF वर्ल्डकप फाइनल में क्वालीफाई हुए थे . गगन ने क्वालिफिकेशन राउंड में सबसे अच्छा स्कोर बनाया था, गगन ने अंतिम राउंड में 103.5 स्कोर कर अपना कुल स्कोर 703.5 बनाया था, इसी के साथ गगन नारंग ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किये थे .

ISSF विश्व कप: वर्ष 2008 में होने वाले बीजिंग ओलंपिक में गगन नारंग ने एक उचित स्थान प्राप्त किया था, परंतु वह फाइनल राउंड में बेहतर प्रदर्शन कर पाने में कामयाब नहीं हो पाए थे. बैंकाक में होने वाले ISSF विश्व कप के फाइनल में गगन नारंग ने स्वर्ण पदक जीता था और जिसके परिणामस्वरूप वह एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाने में सफल हुए थे. इस महत्वपूर्ण उपलब्धि ने गगन नारंग की रैंकिंग बढ़ा दी और वह अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाजी में 18 पायदान से ऊपर आकर शीर्ष निशानेबाजों में शुमार हो गए थे. गगन नारंग अंतरराष्ट्रीय खेल में सफलता हासिल करने वाले तीसरे भारतीय निशानेबाज बन गए थे.

गन नारंग ने एशियाई गेम्स में जीता था रजक पदक: भारतीय निशानेबाज गगन नारंग ने सन 2010 में नई दिल्ली में हुए Commonwealth Games में चार स्वर्ण पदक जीते थे जिसके पश्चात पुरुष की 10m एयर राइफल एकल प्रतिस्पर्धा में 600 का स्कोर बना कर एक रिकॉर्ड अपने नाम किया था. गगन ने 2010 में ही हुए एशियाई गेम्स में रजत पदक भी जीता था.

साल 2010 में कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले नारंग ने कहा: "मुकाबले के दिन काफी हवा चल रही थी और मुझे अपने लक्ष्य पर काफी गंभीरता से ध्यान केंद्रित करना पड़ रहा था. ये दिन मेरे धीरज के परीक्षण का दिन था, क्योंकि मुझे सही समय पर अपना निशाना साधना था." 2014 में ग्लोसगो में हुए Commonwealth Games में गगन ने 50m राइफल प्रोन स्पर्धा में एक रजत तथा 50m राइफल में 3 पदों वाली स्पर्धा में एक ब्रॉन्ज मेडल जीता था.

पूर्व फ्लेमिंगो के दिग्गज खिलाड़ी लेको का हुआ निधन

इस महान घुड़सवार ने किया इच्छामृत्यु का फैसला

नीदरलैंड्स के फुटबाल कोच को अस्पताल में करवाया गया भर्ती

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -