कानपुर हिंसा: मुख्तार बाबा पर चला प्रशसन का डंडा, FSSAI ने सील की सभी दुकानें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कानपुर में भड़की हिंसा मामले में गिरफ्तार किए गए मुख्तार बाबा पर सोमवार को बड़ी कार्यवाही की गई है। जिला प्रशासन के कई विभागों की टीमों ने एक साथ शहर में स्थित बाबा बिरयानी के कई रेस्टोरेंट पर एक साथ कार्रवाई की है। इस वक़्त जाजमऊ के दो प्रतिष्ठानों पर छापेमारी जारी है। इसके साथ ही स्वरूप नगर, बेकनंगज, साउथेक्स मॉल और आर्य नगर में भी बने बाबा बिरयानी के प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की गई है।

ADM सिटी अतुल कुमार का कहना है कि छापेमारी में खाद्य विभाग, प्रशासन और पुलिस की टीम शामिल है। अभी सभी जगह पर फूड सैम्पलिंग की जा रही है। बताया गया है कि बिरयानी के सैंपल फेल होने के बाद FSSAI सभी दुकानों को सील कर रहा है। मजिस्ट्रेट के निर्देश पर ये कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि 3 जून को कानपुर में हुई हिंसा के मामले में 'बाबा बिरयानी' के मालिक मुख्तार बाबा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा के खिलाफ हो रही कार्यवाही को लेकर परिजन भी सफाई देने सामने आए हैं। उनका कहना है कि कोई सबूत हो तो जांच कर सरकार जांच कर ले। हमें सरकार पर यकीन है। 

वहीं, आरोपी मुख्तार बाबा के परिवार वालों ने राम जानकी मंदिर की भूमि पर कब्जे पर को लेकर कहा, मंदिर का मामला अलग है और हमारी दुकानें अलग। हमने जिले के DM के पास जमीन से संबंधित दस्तावेज़ भी जमा कर दिए हैं। बता दें कि कानपुर हिंसा मामले में पुलिस ने मुख्तार बाबा पर तीन और FIR दर्ज की हैं। इन मुकदमों में वादियों ने मुख्तार और उसके परिजनों पर राम जानकी मंदिर की भूमि को लेकर इल्जाम लगाए हैं। जबकि मुख्तार बाबा को पुलिस कानपुर हिंसा में शामिल मानकर पहले जेल भेज चुकी है। इस मामले में पुलिस ने उसके परिजनों पर भी प्राथमिकी दर्ज की है।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता, कुलगाम मुठभेड़ में 2 आतंक ढेर

कानपुर: अनियंत्रित होकर डिवाइडर पर चढ़ गई तेज रफ़्तार बस, फिर पलटी..., आधा दर्जन यात्री घायल

तीस्ता सीतलवाड़ की गिरफ़्तारी होते ही खतरे में आया लोकतंत्र, मुंबई प्रेस क्लब ने कहा- रिहा करो..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -