जातिसूचक शब्दों को लेकर हुआ जघन्य हत्याकांड

गुरुग्राम में 20 दिसंबर से लापता दो युवकों, राहुल और कृष्ण की लाश पुलिस ने बरामद की. मृतकों के चार दोस्तों ने मिलकर उनकी बेरहमी से हत्या कर शव दफना दिये थे. दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. जातिसूचक शब्द को लेकर यह हत्याकांड हुआ.

गिरफ्तार गाड़ौली निवासी रोहित और विनय की निशानदेही पर पुलिस ने मृतकों के शव, गाड़ौली में रिलायंस कंपनी की खाली पड़े जंगलनुमा इलाके से बरामद किए, साथ ही जिस कमरे में दोनों युवकों की हत्या की गई, वहां जाने पर देखा कि चारों ओर सामान और शराब के गिलास बिखरे पड़े थे और दीवारों पर खून छींटे थे. दोनों आरोपियों ने बताया कि 20-21 दिसंबर की देर रात 6 दोस्तों ने इसी कमरे में बैठकर शराब पी. इसके बाद चारों ने मिलकर राहुल और कृष्ण के लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर चिढ़ाया, इससे दोस्तों के बीच झगड़ा हुआ. जिसके बाद रोहित, विनय, गौतम और संजू ने मिलकर कुल्हाड़ी से राहुल और मोनू की हत्या की.

उन्होंने पेट्रोल डाल कर शवों को जलाने की भी कोशिश की. लेकिन शव पूरी तरह नहीं जले तो चारों ने गड्ढा खोदकर शव दफना दिए और फरार हो गए. लापता युवकों के परिजनों ने अपहरण का मामला दर्ज करवाया और दोस्तों रोहित, गौतम और संजू पर इसका शक जताया था. जिसके बाद पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया और मामले से पर्दा उठ गया.

बिहार में लगातार दलित महिलाओं और बच्चियों से दुष्कर्म

मुंबई- ओला कैब में ड्राईवर और साथी ने किया दुष्कर्म

ट्रंप के पूर्व चुनाव प्रबंधक ने गायिका से की छेड़खानी

Most Popular

- Sponsored Advert -