नारकंडा में ताजा बर्फबारी और तेज़ ठण्ड होने से घरो में दुबके लोग

Jan 17 2020 05:29 PM
नारकंडा में ताजा बर्फबारी और तेज़ ठण्ड होने से घरो में दुबके लोग

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में नारकंडा और हाटू पीक के साथ चोटियों में फिर बर्फबारी हुई है। वही  बर्फबारी से एनएच-पांच पर दोबारा वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है।इसके साथ  जिला कुल्लू में बर्फबारी का दौर जारी है। वही आज भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान है। एक तरफ, सूबे के बर्फीले क्षेत्रों में बिजली-पानी का संकट अभी भी बना हुआ है। कुल्लू जिला की पहाड़ियों के साथ ग्रामीण क्षेत्र हिमपात से लकदक हो गए हैं।

बर्फबारी से दर्जनों सड़कों पर यातायात बाधित हो गया है। रोहतांग में 60, जलोड़ी दर्रा में 45, सोलंगनाला में 20 सेंटीमीटर ताजा हिमपात होने से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। इसके अलावा बर्फबारी ने हाइवे-305 को बीते एक हफ्ते से बहाल करने में जुटे एनएच अथॉरिटी की मेहनत पर पानी फेर दिया है। सैंज घाटी को जोड़ने वाला लारजी-सैंज-न्यूली मार्ग बार-बार अवरूद्ध हो रहा है। बीती रात को भी मार्ग बंद रहा जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा है ।

वही जनजातीय जिला लाहौल में शुक्रवार सुबह से हल्की बर्फबारी हो रही है जिससे एक बार फिर घाटी कड़ाके की ठंड की चपेट में है। इसके अलावा लोगों घरों में दुबक गए हैं। लाहौल के सिस्सू में फंसे बीमार पुलिस कांस्टेबल को चार फीट बर्फ में पांच किलोमीटर उठाकर अटल टनल से कुल्लू लाया गया। हालांकि बीते दिन एक निजी हेलीकॉप्टर की मदद से बीमार जवान को कुल्लू जाया जाना था परन्तु रोहतांग दर्रा में मौसम खराब होने से उड़ान नहीं हो पायी थी।

पंडोगा के शिक्षण संस्थान में छात्रवृत्ति घोटाले में सीबीआई ने मारा छापा

दिल्ली चुनाव से पहले 'आप' को बड़ा झटका, MLA जितेंद्र सिंह तोमर का निर्वाचन रद्द

रेमो डिसूजा का पासपोर्ट रिलीज करने से कोर्ट ने किया मना, कोरियोग्राफर की मुश्किलें बड़ी