130 वर्ष पहले की प्राचीन हिन्दू देवता की निर्मित प्रतिमा का सिर लौटाया फ़्रांस ने

नामपेन्ह :  फ़्रांस ने 130 वर्ष पहले अलग कर वहां ले जाए गए एक प्रतिमा के सिर को पुनः लौंटा दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह एक प्राचीन हिन्दू देवता की मूर्ति है जिसे सातवीं शताब्दी में निर्मित किया गया था. तथा इस प्रतिमा का सिर जुड़ने के साथ ही इसे संग्रहालय में प्रदर्शन के लिए रखा गया है.

सातवीं शताब्दी में निर्मित यह प्रतिमा जो की पत्थरों से निर्मित है इस प्राचीनतम मूर्ति में भगवान शिव व विष्णु के आयामों को प्रदर्शित किया गया है. भगवान शिव व विष्णु का हिन्दू धर्म में बहुत अधिक महत्व है तथा यह हिन्दू धर्म के प्रमुख देवता है.

गौरतलब है कि इस प्रतिमा का सिर 1882 या 1883 में फ्रांस के शोधकर्ता ताकेओ प्रांत (कंबोडिया) में नाम दा मंदिर से ले गए थे और इसे फ्रांस के ग्वीमेत संग्रहालय में रखा गया था। इस प्रतिमा के सिर को लौटाये जाने के कार्यक्रम में करीब 200 सरकारी अधिकारी, विदेशी सरकारों के प्रतिनिधि, राजदूत और ग्वीमेत संग्रहालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने इसमें भाग लिया था.   

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -