रफाल के नौ सेना संस्करण पर प्रजेंटेशन देगा फ्रांस

Jan 21 2016 11:52 AM
रफाल के नौ सेना संस्करण पर प्रजेंटेशन देगा फ्रांस

नई दिल्ली : 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस। इस साल इस दिन भारत के चीफ गेस्ट है फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ओलांद भारत के सैन्य बल की ताकत को सामने से देखेंगे। जल्द ही फ्रांस की उच्च स्तरीय टीम भारतीय नौसेना के सीनियर ऑफिसरों से मुलाकात करेगी। अधिकारी उन्हें लड़ाकू विमान रफाल के नौसेना संस्करण से अवगत कराएंगे। इसका कारण है भारत द्वारा अपने अगले स्वदेशी विमानवाहक पोत विशाल के डिजाइन पर काम शुरु करना।

इस बाबत जानकारी देते हुए रक्षा सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान फ्रांसीसी पक्ष रफाल के नौ सेना संस्करण के विभिन्न पहलुओं पर प्रजेंटेशन देगा। वायुसेना भी जल्द ही रफाल विमानों का संचालन करने जा रही है। वायुसेना दोनों देशों के बीच हुए समझौते के तहत 36 रफाल विमान हासिल करेगी। भारत ने 4 देशों को पत्र लिखकर विमान वाहक पोतों के डिजाइन पर प्रस्ताव मांगा है, जिसके तहत 50 से अधिक विमान संचालित किए जा सकेंगे। फिलहाल भारत के पास दो विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य और आईएनएस विराट है। आईएनेस विराट को जल्द ही सेवा से हटाया जाना है।

देश के पहले विमान वाहक पोत विक्रांत का निर्माण कोच्चि में किया जा रहा है और यह 2018 तक संपन्न हो जाएगा। नौसेना विक्रांत पर मिग 29 के लड़ाकू विमानों को तैनात करेगी। नौसेना के मुताबिक विक्रांत 65 हजार टन का विमान वाहक पोत होगा, जो करीब 300 मीटर लंबा और 70 मीटर चौड़ा होगा। कहा जा रहा है कि यह परमाणु चालित होगा। इसके 50 साल के लंबे जीवन कााल को देखते हुए परमाणु प्रणोदक पाली ही बेहतर होगा।