15 लाख के लिए गैंगरेप के झूठे आरोप में फंसाया

Aug 28 2015 03:08 PM
15 लाख के लिए गैंगरेप के झूठे आरोप में फंसाया

मेरठ : इन दिनों देशभर में बड़े पैमाने पर गैंगरेप के मामले सामने आ रहे हैं। आए दिन गैंगरेप की वारदात सामने आती रहती है लेकिन इनमें से कुछ मामले ऐसे भी होते हैं जो झूठ की बुनियाद पर टिके होते हैं। केवल किसी को फंसाने के लिए गैंगरेप की वारदात का नाटकीय घटनाक्रम मढ़ा जाता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश में सामने आया है। जिसमें आरोपियों ने 15 लाख रूपए का सौदा कर यह ड्रामा रचा। मिली जानकारी के अनुसार यह षडयंत्र रचा गया तो पुलिस ने चार आरोपियों और मामले में इसमें शामिल एक महिला को पकड़ लिया।

इस महिला के विरूद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा दायर कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार एक महिला ने जिला अस्पताल में भर्ती होने के साथ ही कुछ आरोपियों पर गैंगरेप का आरोप लगा दिया था। जब मामले की असलियत सामने आई तो आरोपी सन्न रह गए । दरअसल यह सारा षड्यंत्र एक गवाह को गवाही से रोकने के लिए रचा गया। इस दौरान ब्रह्मपुरी क्षेत्र में बिलाल नामक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

जिसमें हत्या के मुख्य गवाह के तौर पर आस मोहम्मद और सलमान सामने आए थे। मगर जब मामले की असलियत सामने आ गई तो गैंगरेप का आरोप लगाने वाले आरोपी फरार होने लगे हैं। मामले में कहा गया कि पूजा उर्फ नेहा और अन्य लोगों को आरोप लगाने के लिए नजाकत अली के सहयोगी हाजी मरगूब अली ने पैसे दिए थे दूसरी ओर जिला अस्पताल के सेवानिवृत्त कर्मचारी और चिकित्सक से डील की गई और फिर इन लोगों पर इस तरह का आरोप लगाया गया लेकिन बाद में ये पकड़े गए। अब पुलिस इन पर कार्रवाई करने की तैयारी में है।