भारत के पूंजी बाजार से निवेशकों ने सितंबर माह में निकाले इतने रूपये

नई दिल्लीः भारत में चल रही आर्थिक सुस्ती के बीच विदेशी निवेशकों का भारतीय पूंजी बाजार से पैसा निकालने का क्रम जारी है। विदेशी निवेशकों ने सितंबर माह मे भारतीय बाजार से 4,193 करोड़ रुपये की निकासी कर चुके हैं। केंद्र सरकार ने हाल ही में कॉरपोरेट टैक्स में करीब 10 फीसद की कमी की गई है। सरकार ने इसके साथ ही बताया कि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के लिए डेरिवेटिव समेत प्रतिभूतियों की बिक्री से होने वाले पूंजीगत लाभ पर बढ़ा हुआ अधिभार लागू नहीं होगा।

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय चंडोक ने कहा, 'सरकार द्वारा किए गए उपाय निवेश की सुस्ती में तेजी लाएंगे। इससे कंपनियों की आय बढ़ेगी। उनके द्वारा इसका कुछ लाभ ग्राहकों को देने से मांग में भी सुधार होगा और देश में एफपीआई का निवेश बढ़ेगा। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 3-20 सितंबर के बीच शेयर बाजारों से शुद्ध रूप से 5,577.99 करोड़ रुपये निकाले जबकि बांड या कर्ज बाजार में 1,384.81 करोड़ रुपये का निवेश किया।

इस प्रकार, उन्होंने घरेलू पूंजी बाजार (शेयर एवं बॉंड बाजार) से शुद्ध रूप से 4,193.18 करोड़ रुपये की निकासी की। इससे पहले, एफपीआई ने अगस्त में पूंजी बाजार से 5,920.02 करोड़ रुपये और जुलाई में 2,985.88 करोड़ रुपये निकाले थे। बता दें कि सरकार उद्योगों को तमाम तरह की रियायतें देकर उन्हें देश में निवेश करने को प्रोत्साहित कर रही है।

पाकिस्तानी एयरलाइन की यह करतूत हैरान कर देगी आपको

अमेरिकी उद्योग जगत ने कॉरपोरेट टैक्स में कमी के ऐलान का किया स्वागत

RBI ने इस बड़े बैंक के कामकाज पर लगाई रोक, खाताधारकों को बैंक से मात्र 1000 रुपए निकलने की इजाजत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -