चलती ट्रेन में पूर्व सपा विधायक को दी थी जान से मारने की धमकी, पांच गिरफ्तार

Jul 22 2019 10:58 AM
चलती ट्रेन में पूर्व सपा विधायक को दी थी जान से मारने की धमकी, पांच गिरफ्तार

भोपाल: भारतीय रेलवे अक्सर की किसी न किसी कारण से चर्चाओं में बनी रहती है. कभी बदइंतज़ामी को लेकर तो कभी मुसाफिरों की सुरक्षा के चलते अक्सर ही भारतीय रेलवे सवालों के दायरे में नजर आता है, किन्तु इस बार मामला और भी गंभीर है. क्योंकि इस बार मामला पूर्व विधायक से सम्बंधित है. दरअसल, हाल ही में गोंडवाना एक्सप्रेस में मध्य प्रदेश के पूर्व MLA यात्रा कर रहे थे. इसी बीच कुछ बदमाश उनकी कोच में घुस गए और उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगे. इस पर अपनी जान बचाने के लिए पूर्व MLA डॉ सुनीलम ने ट्रेन के शौचालय में अपने आप को बंद कर लिया.

जिसके बाद डॉ सुनीलम ने ट्विटर पर एक शिकायती पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने लिखा कि, 'गोंडवाना ट्रेन के अंदर B1/17 में 30 मिनट पहले आया युवा चिल्लाकर गाली दे रहा है और मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा है. युवा के साथ आरती नाम की लड़की भी है. कहता है मेरा बाप 2 मर्डर में जेल में है. उसने फोन करके भोपाल से और भी गुंडे बुलाए हैं.' एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, 'मैंने रेल मंत्री को भी ट्वीट कर दिया है. सलाह दें कि और किसको सूचित करूं.'

प्राप्त जानकारी के अनुसार सुनीलम 15 जुलाई को दिल्ली से मुलताई की यात्रा पर थे, कि तभी रास्ते में रात 12.30 बजे के लगभग बीना से एक युवती के साथ बोगी में चढ़े युवक ने उनके साथ गाली-गलौज करना आरंभ कर दिया, इतना ही नहीं उन्हें जान से मारने की धमकी भी दे डाली. युवक ने डॉ सुनीलम को धमकाने के लिए कुछ लोगों को भोपाल स्टेशन पर भी बुला लिया था. इस दौरान सुनीलम ने बोगी के शौचालय में घुस गए और अंदर से दरवाज़ा बंद कर लिया. इस मामले में पूर्व MLA ने रेल मंत्री और पीएम नरेंद्र मोदी से भी शिकायत की थी. जिसके बाद संसद में भी यह मामला उठा था. आपको बता दें कि डॉ सुनीलम से अभद्रता करने के मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया हैं. जीआरपी ने सीसीटीवी फुटेज की सहायता से इन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

अंतरराष्ट्रीय मैडल जीतने वालों के लिए खुशखबरी, सरकार ने किया बड़ा ऐलान

जल्द होगा एयर इंडिया का निजीकरण, तैयारियों में जुटी मोदी सरकार

पिछले 11 वर्षों से नहीं बढ़ी है मुकेश अंबानी की सैलरी, प्रतिमाह इतना लेते हैं वेतन