कोयले की कालिख से रंगे है पूर्व प्रधानमंत्री डाॅ. मनमोहन के हाथ

नई दिल्ली : बहुचर्चित कोल ब्लाॅक आवंटन के मामले में आरोपी के तौर पर सामने आए झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोडा ने आरोप लगाया कि तत्कालीन प्रधानमंत्री और कोयला मंत्री मनमोहन सिंह भी इस मामले में दोषी हैं। उनका यह कहना कि उन्हें जानकारी में लाए बिना ही कोल ब्लाॅक का आवंटन किया गया, यह सही नहीं है। प्रधानमंत्री डाॅ. मनमोहन सिंह को सब पता था। मिली जानकारी के अनुसार कोड़ा की दलील है कि सीबीआई द्वारा यह कहा गया कि साजिश तो हुई है। यही नहीं मनमोहन भी इससे जुड़े हुए हैं।  

डाॅ. मनमोहन सिंह को कोयला घोटाले में आरोपी के तौर पर समन जारी करने की मांग भी मधु कोड़ा ने की। इस मामले में यह बात सामने आई है कि झारखंड में बीरभूम के अमरकोंडा मुर्गदगल कोल ब्लाॅक आवटन के मामले में कोयला घोटाले में आरोपी बनाते हुए स्पेशल कोर्ट द्वारा नवीन जिंदल, दसारी नारायण राव, एचसी गुप्ता, मधु कोड़ा सहित 15 आरोपियों को समन जारी कर दिए गए।

हालांकि इस मामले में आरोपियों को जमानत दे दी गई। इस मामले में वर्ष 2013 में सीबीआई द्वारा एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। इस मसले पर जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड, जिंदल रियलटी प्रायवेट लिमिटेड, गगन स्पांज प्रायवेट लिमिटेड और न्यू दिल्ली एक्जिम प्रायवेट लिमिटेड के साथ ही सौभाग्य मीडिया लिमिटेड के कर्ताधर्ताओं और अधिकारियों से भी पूछताछ की गई। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -