परमबीर सिंह की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

मुंबई: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह को गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। जी दरअसल हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह को गिरफ्तारी पर सुरक्षा देने वाली याचिका पर सुनवाई की। वहीं इस दौरान शीर्ष अदालत ने परमबीर सिंह को गिरफ्तारी से संरक्षण देते हुए जांच जारी रहने के दौरान गिरफ्तार नहीं किए जाने का आदेश सुना दिया है। इस सुनवाई के दौरान परमबीर सिंह के वकील ने अदालत को बताया कि '(परमबीर सिंह) देश में ही हैं, लेकिन उनकी जान को खतरा है, इसलिए वो छिप रहे हैं।'

आप सभी को बता दें कि पिछली सुनवाई के दौरान अदालत ने उनके वकील से पूछा था कि 'परमबीर सिंह कहां हैं, पहले यह बताएं तब अदालत सुनवाई करेगी।' केवल यही नहीं बल्कि पीठ ने कहा था कि, 'हम आश्चर्य में है कि इस तरह की स्थिति में सामान्य व्यक्ति का क्या होगा।' वहीं अब सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी करते हुए महाराष्ट्र सरकार और अन्य से 6 दिसंबर तक जवाब देने को कहा है। अब सुप्रीम कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 6 दिसंबर को होगी। आप सभी को बता दें कि आज परमबीर के वकील पुनीत बाली ने जस्टिस संजय किशन कौल कि पीठ से कहा, 'परमबीर देश में हैं।' वहीं इस पर जब पीठ ने पूछा कि, 'आपको मुंबई पुलिस से कैसे खतरा है।'

तो वकील बाली ने परमबीर सिंह की तरफ से कोर्ट में कहा कि 'मेरे खिलाफ तमाम एफआईआर हुई हैं। मैं देश में ही हूं, लेकिन जान को खतरा होने की वजह से छिप रहा हूं।' इसी के साथ परबीर सिंह की तरफ से वकील बाली ने कहा कि 'मैंने राज्य के गृहमंत्री के खिलाफ स्टैंड लिया है। ऐसे में मामले कि जांच सीबीआई को भेजी जाए।' आगे वकील ने कहा, 'मेरे मुवक्किल को डीजीपी की ओर से पत्र को वापस लेने को कहा गया और गृहमंत्री के मामले में शांत रहने को कहा गया।' वहीं जब पीठ ने पूछा कि फोन पर जो बातें हुई उसकी ट्रांसक्रिप्ट कहां है। इस दौरान बाली ने अदालत में ट्रांसक्रिप्ट पेश की है।

ACTREC मुंबई में इन पदों से लिए शुरू किए गए इंटरव्यू, इस तरह आप भी लें सकते है भाग

'रजा अकादमी को बैन कीजिए': देवेंद्र फडणवीस

'कबूल है, कबूल है, कबूल है, यह क्या किया तुमने समीर दाऊद वानखेड़े': नवाब मलिक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -