46 साल कांग्रेस में रहने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार ने छोड़ी पार्टी, बताया ये बड़ा कारण

अमृतसर: पंजाब विधानसभा चुनाव के बीच कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है. दरअसल, पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता अश्विनी कुमार ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. कुमार ने पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस के साथ अपने दशकों पुराने रिश्ते को भी ख़त्म कर दिया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमार ने अपना इस्तीफा कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा है. उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के बाहर रहकर राष्ट्रीय हितों की बेहतर सेवा कर सकते हैं.’

बता दें कि अश्विनी कुमार की दो पीढ़ियां कांग्रेस से जुड़ी रही हैं. उन्होंने अपने इस्तीफे का कारण बताते हुए कहा कि पार्टी में नेतृत्व की कमी है.’ अश्विनी कुमार ने कहा कि कांग्रेस अपने आप को फिर से स्थापित करने में असमर्थ रही है और लगातार धरातल की तरफ बढ़ रही है. अश्विनी कुमार ने आगे कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा और गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से जुड़े हालिया विवादों ने उनको पार्टी छोड़ने का फैसले करने के लिए विवश कर दिया. कुमार ने कहा कि इन घटनाओं के कारण उन्होंने पार्टी से इस्तीफा देने का मन बना लिया. 

सोनिया को लिखे अपने पत्र में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, 'इस मामले पर विचार करने के बाद, मैंने ये निष्कर्ष निकाला है कि मौजूदा हालात और अपनी गरिमा को ध्यान में रखते हुए मैं पार्टी के बाहर रहकर बड़ी राष्ट्रीय समस्याओं की बेहतर तरीके से सेवा कर सकता हूं.’ उन्होंने कहा कि, इस प्रकार मैं 46 वर्षों के लंबे जुड़ाव के बाद पार्टी छोड़ रहा हूं.'

सरकारी नौकरी के नाम पर भाजपा नेता ने लिए पैसे, पार्टी ने 6 साल के लिए किया निलंबित

प्रियंका गाँधी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर PM मोदी को घेरा

सीएम गहलोत बोले- अधिकारियों की वजह से कांग्रेस हार गई थी 2013 का विधानसभा चुनाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -