पी चिदंबरम का मोदी सरकार पर आरोप, नोटबंदी की वजह देश को हुआ 2.25 लाख करोड़ रुपये का नुकसान

पी चिदंबरम का मोदी सरकार पर आरोप, नोटबंदी की वजह देश को हुआ 2.25 लाख करोड़ रुपये का नुकसान

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोट बंदी की घोषणा किये जाने के बाद से ही इस मुद्दे पर बहुत राजनीती हुई थी। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियों ने इस मुद्दे पर बीजेपी को घेरने की कोशिश की थी। और अब नोटेबंदी के दो साल बाद इस मामले में रिजर्व बैंक की ओर से आधिकारिक आंकड़ा  जारी किए जाने के बाद से इस मुद्दे पर फिर बहसबाजी शुरू हो गई है। 

7वा वेतन आयोग : कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा, इतनी बढ़ेगी सैलरी

अब इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सरकार पर फिर निशाना साधा है। चिदंबरम ने आज अपने एक बयान में कहा है कि नोटबंदी की वजह देश को 2.25 लाख करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। दरअसल चिदंबरम ने आज एक ट्वीट कर लिखा है कि नोटबंदी के दौरान में 100 से अधिक लोगों की मौत हुई थी और 15 करोड़ से अधिक लोगों ने कई हफ्तों तक अपनी जीविका खो दी थी। चिदंबरम ने यह भी लिखा कि इससे सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्योग क्षेत्र में हजारों इकाइयां बंद हो गईं जिससे लाखों लोगों की नौकरियां चली गईं। इस तरह भारत को नोटेबंदी से एक साल में कुल 2.25 लाख करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। 

फायदेमंद फैसले थे नोटेबंदी और GST, बैंकों में वापस आया 99.3 फीसदी पैसा : RBI

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के नोटों को चलन से बाहर करने की घोषणा की थी। इसके बाद कई दिनों तक लोगों को बैंको में से पैसा निकालने या जमा करवाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था और इस मामले में काफी राजनीती भी हुई थी। 

ख़बरें और भी 

नेताओं को इन नामों से जानता है गूगल ....

भीमा कोरेगांव मामला : सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को जारी किया नोटिस

स्वच्छता अभियान मानसिक स्वच्छता के लिए भी है, इसलिए सोशल मीडिया पर गन्दगी न फैलाएं:- पीएम मोदी

?