माही ने किया दंग कर देने वाला खुलासा

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कैप्टन ने हर बार अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन कर पूरी संसार में अपनी धाक जमाई है. धोनी ने न जाने कितनी बार टीम इंडिया की जीत में अपना अहम सहयोग दिया है. धोनी एक बेहतरीन खिलाड़ी तो हैं ही साथ ही वो एक लाजवाब कैप्टन भी थे. आज धोनी भले ही बहुत ज्यादा समय से मैदान से बाहर हैं मगर बावजूद इसके उनके फैंस के दिलों में उनके लिए प्यार व सम्मान कतई कम नहीं हुआ है. वहीं ये तो हम सभी जानते हैं कि धोनी की जर्सी का नंबर 7 है, जिसके पीछे उनका गहरा नाता है, अगर यकीन नहीं होता तो आज हम आपको धोनी व उनके साथ, 7 नंबर के कनेक्शन का ऐसा किस्सा बताएंगे कि आप भी जानकर दंग हो जाएंगे.

'कैप्टन कूल' के नाम पूरी से संसार में प्रसिद्ध महेंद्र सिंह धोनी नंबर 7 को अपना लक्की नंबर मानते हैं. एक तो इसका सबसे बड़ा कारण है कि धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को हुआ था. जन्म की तारीख 7 व महीना भी 7वां. अपने कैप्टन कूल न्यूमेरोलॉजी में बहुत ज्यादा यकीन करते हैं, जिसके बारे में उन्होंने अपने एक साक्षात्कार में खुद बताया था. धोनी ने इस साक्षात्कार में एक किस्सा शेयर करते हुए बताया कि एक बार उन्होंने एक बड़ी Smart Phone कंपनी के साथ डील साइन करनी थी, जिसके लिए धोनी ने पहले ही कंपनी वालों को बोल दिया था कि वो इस कंपनी के साथ कॉन्ट्रैक्ट 7 दिसंबर को ही साइन करेंग. यहां बात सिर्फ 7 तारीख तक ही सीमित नहीं रही थी, इस डील को साइन करने से पहले उन्होंने Smart Phone कंपनी से स्पष्ट रूप से कह दिया था कि वो डील 7 दिसंबर को प्रातः काल 7 बजे व 7 वर्ष के लिए साइन करेंगे.

7 वर्ष तक किसी कंपनी के साथ कॉन्ट्रैक्ट में बंधे रहना बहुत बड़ी बात है, क्योंकि इससे पहले किसी भी खिलाड़ी ने किसी कंपनी के साथ इतने वर्षों के लिए डील साइन नहीं की थी, मगर जो कोई नहीं कर सकता, वो धोनी कर दिखाते हैं, यही तो माही की अच्छाई है. अब धोनी का नंबर 7 के लिए इतना पागलपन देखकर आप सोच रहे होंगे कि टीम इंडिया की नीली जर्सी पर 7 भी धोनी ने खुद ही लिया होगा, लेकिन ये हकीकत नहीं है. धोनी ने इस बात का भी जिक्र अपने एक साक्षात्कार में किया था, उन्होंने बताया कि 'मुझे जर्सी पर नंबर 7 भाग्य से मिला था, क्योंकि उस वक्त सिर्फ यही नंबर खाली था जो मुझे मिल गया. ' जिसके बाद से वो हमेशा इसी नंबर की जर्सी पहनते हैं फिर चाहे वो नेशनल टीम के लिए खेलें या अपनी आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के लिए. उनकी जर्सी का नंबर उनके साथ-साथ पूरी टीम के लिए बहुत लक्की साबित हुआ, इसीलिए धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने वर्ष 2007 में पहला टी-20 वर्ल्ड कप व वर्ष 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था.

विजय अमृतराज का बड़ा बयान- 'कोरोना महामारी के कारण 'बिग थ्री' नडाल...'

अंजुम मुदगिल का बड़ा बयान, कहा- 'कोई डर नहीं, एथलीट फिर से अच्छी ट्रेनिंग करेंगे'

कुक की मौत के बाद भी SAI में ही रहेंगे हॉकी खिलाड़ी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -